यूपी में दलित उत्पीड़न पर मायावती ने थोड़ी चुप्पी, कहा- दोषी चाहे किसी भी धर्म और जाति का हो उनके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई हो

फाइल फोटो
उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा प्रमुख मायावती ने राज्य में हो रहे दलित उत्पीड़न पर कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर की है। जौनपुर और आजमगढ़ में दलितों के साथ हुए अत्याचार पर मायावती ने चुप्पी तोड़ते हुए कहा है कि दोषी चाहे किसी भी धर्म और जाति का क्यों न हो उनके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई हो।मायावती ने ट्वीट किया, यूपी में चाहे आजमगढ़, कानपुर या अन्य किसी भी जिले में खासकर दलित बहन-बेटी के साथ हुए उत्पीड़न का मामला हो या फिर अन्य किसी भी जाति व धर्म की बहन-बेटी के साथ हुए उत्पीड़न का मामला हो, उसकी जितनी भी निंदा की जाये, वह कम है ।मायावती ने कहा कि चाहे इसके दोषी किसी भी धर्म, जाति व पार्टी के बड़े से बड़े नेता व कितने भी प्रभावशाली व्यक्ति क्यों ना हो, उनके खिलाफ फौरन और सख्त कानूनी कार्रवाई होनी चहिए ।बीएसपी का यह कहना व सलाह भी है ।बसपा प्रमुख ने कहा कि खासकर अभी हाल ही में आजमगढ़ में दलित बेटी के साथ हुए उत्पीड़न के मामले में कार्रवाई को लेकर यूपी के मुख्यमंत्री देर आए पर दुरुस्त आए, यह अच्छी बात है। लेकिन बहन-बेटियों के मामले में कार्रवाई आगे भी तुरन्त व समय से होनी चाहिये तो यह बेहतर होगा ।बीजेपी की राज्यसभा सांसद कांता कर्दम ने मायावती के ट्वीट का जिक्र किया है । उन्होंने कहा है किसी भी बहन-बेटी के साथ योगी सरकार में अन्याय नहीं हो सकता है । तभी तो आज़मगढ़ में दलित बेटियों से अत्याचार करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने पर खुद मायावती ने योगी की तारीफ की है । अपराध मुक्त शासन के लिए प्रतिबद्ध योगी सरकार का धन्यवाद ।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!