संविदाकर्मियों ने निजी कंपनी के गेट पर किया प्रदर्शन

अंशु खत्री/दिलीप श्रीवास्तव (संवाददाता)

चुर्क । आज चुर्क निजी कंपनी के मजदूरों द्वारा देर शाम गेट पर हंगामा खड़ा कर दिया। हंगामा खड़ा होने से कंपनी में हड़कंप मच गया। लॉक डाउन के दौरान कंपनी के सैकड़ों संविदा मजदूरों को बैठा दिया गया था। कंपनी के अधिकारियों ने उन्हें यह आश्वासन दिया गया था कि लॉक डाउन खत्म होते ही कम्पनी का कार्य चालु होने के बाद सभी को कार्य पर वापस बुला लिया जाएगा परंतु अब तक नही बुलाया गया है। मजदूरों का हंगामा इंतजार के दो माह बीत जाने के बाद भी नही मिला काम रोजी रोटी की चाह में आये दूर दराज से निजी कम्पनी में काम पर आये सैकड़ों मजदूरों के सामने रोजी रोटी के समस्या बढ़ती जा रही है। आप को बता दें कि कंपनी में कार्य कर रहे मजदूरों ने बताया कि हम लोग कोई 10 वर्ष कोई 5 वर्ष से कंपनी की सेवा करते आ रहे हैं। कंपनी का कार्य चालु होने के बाद सभी को कार्य पर अब तक नही बुलाया गया है। मजदूरों के परिवार के सामने खाने पीने की समस्या हो रही है। सभी मजदूर कोई बिहार से कोई मध्य प्रदेश से यहां काम कर रहा है। घर भी नजदीक नहीं है उनके पास घर भी जाने के लिए पैसे नहीं हैं। कंपनी द्वारा मजदूरों को जबरदस्ती रिजाइन देने की बात कही जा रही है। काम नही मिलने से मजदूरों के सामने रोटी रोजी की समस्या हो रही है। सभी बैठाये गए मजदूरों को कंपनी के अधिकारियों द्वारा बार-बार कार्य पर बुलाने के लिए झूठा आश्वासन ही दिया जा रहा है, जबकि कंपनी के अधिकारी आश्वासन देकर अपना पल्ला झाड़ ले रहे है। सभी मजदूरों का कहना है कि आज हम लोग कहां जाएं कौन हम लोगों को रखेगा, जबकि कितने साल से हम लोग इस कंपनी की सेवा करते आ रहे हैं। निजी कंपनी के अधिकारियों द्वारा सभी मजदूरों को झूठा आश्वासन ही दिया गया तथा कंपनी के अधिकारियों द्वारा खुले शब्दों में यह भी कहा गया जो मजदूर जाना चाहता है वह चला जाए। हमें इससे कोई आपत्ति नहीं है परंतु अभी किसी मजदूर को कंपनी के अगले आदेश तक नहीं रखा जाएगा। यह आश्वासन दिया गया कि कंपनी विचार कर रही है। इन मजदूरों को कार्य पर बुला लिया जाएगा लेकिन इसकी कोई लिखित गारंटी नहीं है कि काम पर कब बुला जाये गया। हम मजदूर अपने घर भी नही जा पा रहे है तथा नहीं कंपनी के प्रबंधक द्वारा मजदूरों को सैलरी भी नहीं दिया जा रहा है तथा नहीं उनके घर भेजने की व्यवस्था की जा रही है।

इस दौरान अनिल पटेल, प्रमोद कुमार, गोविंद, रोहित पटेल, गोविंदा, मन्टू, मनोज सिंह, केदारनाथ, कमल कांत, ब्रमदेव, आदि संविदा कर्मचारी मजूद रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!