कोरोना मुक्त बना विकास क्षेत्र शहाबगंज

विनोद कुमार (संवाददाता)

चारों मरीज स्वस्थ होकर लौटे घर,ग्रामीणों में हर्ष

शहाबगंज।इलिया कोविड 19 वायरस का असर शहरी क्षेत्रों में अधिक रहा। लेकिन अन्य प्रदेशों में कार्यरत श्रमिकों के घर वापसी के कारण कोरोना वायरस के मरीज गांवों में भी दिखाई देने लगे।जिसका परिणाम है कि जनपद के गांवों से मरीजों का मिलना बदस्तूर जारी है।शहाबगंज विकास क्षेत्र के चार गांव बेन,डेहरी कला,भुसीकृत पुरवा(इटहिया),और जेंगुरी से चार कोरोना संक्रमित मरीज मिलने से ग्रामीणों में दहशत व्याप्त हो गया,सभी मरीजों को स्वास्थ्य टीम कोविड अस्पताल वाराणसी लेजाकर क्वारंटाईन कर दिया गया।वही प्रशासन द्वारा सभी गांवों को हाट स्पाट घोषित कर लाकडाउन कर दिया।स्वास्थ्य विभाग की टीम सभी ग्रामीणों का थर्मल स्कैनिंग करने के साथ पुरे गांव को सेनेटाईज कराया गया।वहीं जिले मे कोरोना संक्रमित मरीजों के बढ़ रहे संक्रमण को देखते हुए ग्रामीण दहशत में जिने को विवश है।जहां पूर्व में डेहरी कला,बेन और भुसीकृत पुरवा गांव के मरीजो के कोविड अस्पताल से जांच रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद सभी अपने घर आ गये।लेकिन जेगुरी गांव के संक्रमित मरीज का भी रिपोर्ट मंगलवार को निगेटिव आने के बाद घर वापस आ गया।वहीं देररात युवक के घर वापस आने के बाद ग्रामीणों द्वारा स्वागत किया गया।वहीं सभी मरीजों के स्वास्थ्य होने के बाद ही विकास क्षेत्र कोरोना मुक्त हो गया।वहीं वायरस के बचाव के बाबत ग्रामीणों को सोशल डिस्टेंस के बारे में जानकारी देने के साथ मास्क लगाने सेनेटाईज का प्रयोग करने के लिए सफाई कर्मियों, आशा,आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा जागरूक किया जा रहा है।वही बीडीओ धर्मजीत सिंह ने कहां कि सभी संक्रमित मरीजों के कुशल घर वापसी के लिए बधाई, आगे भी सभी के सहयोग से कोरोना वायरस से यह लडाई जीती जायेगी।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!