कोरोना संक्रमण के रोकने में प्रधानों की भूमिका सराहनीय : डीएम

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । वैश्विक महामारी नोवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण के रोकने में बेहतरीन भूमिका निभाने वाले राबर्ट्सगंज विकास खण्ड के ग्राम लोहरा के ग्राम प्रधान अलगू, चतरा विकास खण्ड के ग्राम पुरना के ग्राम प्रधान राजेश सिंह व राबर्ट्सगंज विकास खण्ड के ग्राम प्रधान मारकुण्डी श्रवण कुमार गुप्ता को आज जिला प्रशासन की तरफ से प्रशस्ति-पत्र देकर सम्मानित किया गया।

इस दौरान जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम ने कहा कि “नोवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण को रोकने में सतर्कता पूर्वक समय से जिला प्रशासन को सूचित करते हुए ग्राम लोहरा, पुरनाकला व मारकुण्डी के नागरिकों को संक्रमण से बचाने के लिए किये गये सराहनीय कार्य के लिए जिला प्रशासन द्वारा प्रशस्ति-पत्र देकर सम्मानित किया जा रहा है। जिले के ग्राम स्तरीय निगरानी समिति व ग्राम प्रधानों द्वारा बाहर से आने वाले मजदूरों/नागरिकों के सम्बन्ध में तत्काल सूचना जिला प्रशासन को उपलब्ध कराने वाले यानी संभावित संक्रमित व्यक्ति को चिन्हांकित कराने व होम क्वारंटाइन कराने वाले ग्राम प्रधानों/ग्राम निगरानी समिति को भी सम्मानित किया जायेगा।”

जिलाधिकारी ने कोरोना संक्रमण से बचाव में बाहर से आने वाले गांव के नागरिकों/कामगारों के गांव में आने पर तत्काल जिला प्रशासन को सूचना देने व बाहर से आने वाले नागरिक/कामगार को होम क्वारंटाइन सिस्टम में रखकर गांव के नागरिकों को संभावित कोरोना संक्रमण से बचाने के परोपकारी कार्य के लिए प्रशस्ति-पत्र से नवाजा।

जिलाधिकारी ने बताया कि लोहरा के ग्राम प्रधान अलगू ने गांव में आने वाले कामगार की समय से सूचना देकर सम्बन्धित को होम क्वारंटाइन सिस्टम की व्यवस्था करायी और जॉच रिपोर्ट आने के बाद संभावित व्यक्ति ने कोरोना पॉजीटिव पाया गया। ग्राम प्रधान की सतर्कता से बाहर से आने वाले कामगार को होम क्वारंटाइन में रखने यानी नागरिकों को मेल-जोल से दूर रखने की वजह से लोहरा गांव के नागरिक कोरोना संक्रमण से बच सके। इसी प्रकार से पुरनाकला के ग्राम प्रधान ने कामगार प्रेम बहादुर सिंह को मुम्बई से वापस होने पर तत्काल संभावित संक्रमित व्यक्ति की आने की सूचना जिला प्रशासन को देने के साथ ही प्रेम बहादुर सिंह को होम क्वांरटाइन यानी पुरनाकला के नागरिकों के मेल-जोल से दूर रखा और जब प्रेम बहादुर सिंह की कोरोना रिपोर्ट पॉजीटिव आयी तो गांव के आस-पास के लोगों का भी स्वास्थ्य परीक्षण कराया गया और सभी का कोरोना निगेटिव पायी गयी। पुरना कला के नागरिकों को कोरोना संक्रमण से बचाने में ग्राम प्रधान की प्रशंसनीय भूमिका पायी गयी। इसी प्रकार से मारकुण्डी के ग्राम प्रधान श्रवण कुमार गुप्ता ने मारकुण्डी के एक गुप्ता परिवार जो पूरे परिवार के साथ महाराष्ट्र प्रदेश में रहकर अपना व अपने परिवार का जीविकोपार्जन करता था, पूरे परिवार के साथ जब वे पैतृक गांव मारकुण्डी आया तो ग्राम प्रधान श्री श्रवण कुमार गुप्ता ने फौरन संभावित कोरोना पीडि़त परिवार के बारे में जानकारी जिला प्रशासन को दी और आने वाले कामगार परिवार को होम क्वांरटाइन सिस्टम में रखवाया। कामगार परिवार के सभी आठों सदस्यों का कोरोना रिपोर्ट पॉजीटिव पायी गयी। ग्राम प्रधान की सतर्कता से महाराष्ट्र से लौटने वाले कोरोना से संक्रमित परिवार को मारकुण्डी गांव के नागरिकों से दूर रखने से मारकुण्डी गांव के नागरिकों से कोरोना संक्रमण से बचाया गया।

जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम ने ग्राम स्तरीय निगरानी समिति, ग्राम प्रधानों/जनप्रतिनिधियों, गणमान्यजनों, प्रबुद्धजनों, स्वयंसेवी संगठनों के साथ ही जिले के आम नागरिकों से अपील किया है कि वे बाहर से आने वाले कामकारों/नागरिकों की जानकारी तत्काल जिले स्तर पर स्थापित 24 घंटे क्रियाशील कन्ट्रोल रूम के टेलीफोन नम्बर 05444-222384, 05444-223676 व 05444-223677 तथा मोबाइल नम्बर 8840127444 पर सूचना देकर संभावित कोरोना संक्रमण के बचाव में अपनी जिम्मेदारी निभायें।

जिलाधिकारी ने कहा कि समय से सूचना देकर नागरिकों को कोरेना संक्रमण से बचाने के लिए बेहतर कार्य करने वाले ग्राम प्रधान/नागरिकों को जिला प्रशासन द्वारा सम्मानित भी किया जायेगा।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!