रामसुंदर गोंड़ की हत्या में खनन माफियाओं की भूमिका की हो जांच- स्वराज अभियान

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । आदिवासियों के उभ्भा नरसंहार की तरह ही पुलिस व खनन माफ़िया गठजोड़ द्वारा पकरी के आदिवासी राम सुंदर गोंड़ की हत्या और ग्राम प्रधान समेत आदिवासियों के उत्पीड़न के खिलाफ आज स्वराज अभियान के जिला संयोजक कांता कोल और मजदूर किसान मंच के नेता कृपाशंकर पनिका के नेतृत्व में मृतक के पुत्र लाल बहादुर और पकरी के प्रधान मंजय यादव ने डीएम और एसपी से मिलकर पत्रक सौंप न्याय की गुहार लगाई।
जिलाधिकारी को सौंपे पत्रक में जिले के सर्वोच्च अधिकारियों से रामसुंदर की हत्या में खनन माफियाओं की भूमिका की जांच कराने, एफआईआर दर्ज न करने वाले पुलिस अधिकारियों पर कार्यवाही करने, दर्ज एफआईआर में एससी-एसटी एक्ट की धाराएं जोड़ने, ग्रामीणों पर दर्ज फर्जी मुकदमा वापस लेने और खनन माफियाओं का नाम भी हत्या की एफआईआर में बढ़ाने की मांग की।

इस दौरान मृतक के पुत्र लाल बहादुर ने बताया कि “साजिश के तहत मेरे पिता की हत्या कर दी गयी और अब प्रशासन भी इसकी जाँच में दिलचस्पी नहीं दिखा रहा है। इसलिए आज जिलाधिकारी से मिलकर हमलोग न्याय की गुहार लगाने आए हैं।”

वहीं मजदूर किसान मंच के कृपा शंकर पनिका ने बताया कि “रामसुंदर की हत्या खनन माफियाओं का विरोध करने कारण ही हुई है, जिनका पुलिस के स्थानीय अधिकारियों से गठजोड़ है। आज जिलाधिकारी से मिलकर हमलोगों ने मामले से अवगत कराते हुए इसकी उच्चस्तरीय जाँच कराने की माँग की है।”

इस दौरान प्रतिनिधि मंडल में मजदूर किसान मंच के नेता महेंद्र प्रताप सिंह, बीडीसी पकरी गम्भीर सिंह गोंड़, रामविचार गोंड़ आदि लोग मौजूद रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!