ममता बनर्जी ने जताई खुशी, कहा- बंगाल में रहने वाले प्रवासी मजदूर अपने गृह राज्य नहीं लौटना चाहते

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मामलों को लेकर कहा है कि लोग यात्रा कर रहे हैं, इसलिए यह तेजी से फैल रहा है । मुझे खुशी है कि बंगाल में रहने वाले प्रवासी मजदूर यहां खुशी-खुशी रह रहे हैं । वो अपने गृह राज्य नहीं लौटना चाहते हैं । लेकिन हमारे राज्य के प्रवासी मजदूर दूसरे राज्यों में अनेक मुसीबतों का सामना कर रहे हैं।

ममता बनर्जी ने आगे कहा कि हमने विश्व बैंक से स्पेशल लोन लिया है, जिनमें 1050 करोड़ रुपये लॉजिस्टिक्स और इंफ्रास्ट्रक्चर पर खर्च होंगे और 850 करोड़ रुपये पेंशन और सामाजिक संरचना पर खर्च किया जाएगा ।

लॉकडाउन को लेकर पश्चिम बंगाल की सीएम ने कहा कि 30 जून तक इसे लागू रखा जाएगा । इसके साथ ही कोरोना मृतकों के परिजन, शव के अंतिम दर्शन भी कर पाएंगे । हम लोगों ने शादी समारोह और मंदिरों में 10 से 25 लोगों को एक साथ जाने की अनुमति दी है।

वहीं गृह मंत्री अमित शाह की वर्चुअल रैली पर निशाना साधते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि सोशल मीडिया में ऐसी खबरें आ रही हैं कि 70 हजार LED स्क्रीन का प्रयोग किया गया । इतना बीजेपी ही अफोर्ड कर सकती है। हमलोग नहीं ।

ममता ने कहा, हमेशा याद रखिए संगठित बल ही चोट झेल सकती है। अब तक 20 पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित हो चुके हैं । CISF और CRPF के जवान भी संक्रमित हुए हैं । ये वो लोग हैं जो इस मुश्किल घड़ी में सामने से लड़ाई लड़ रहे हैं ।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!