कोविड-19 के संक्रमण से अलर्ट रहने के लिए दिये गए निर्देश

अबुलकैश (डब्बल)

* मेडिकल स्टोर से ज्यादा पैरासिटामाल खरीदने वालों को करें चिन्हित।

चन्दौली (ब्यूरो) । कोविड 19 हेतु शासन द्वारा नियुक्त जनपद के नोडल अधिकारी अनिल कुमार मिश्र की अध्यक्षता में कोरोना वैश्विक माहामारी से बचाव हेतु रणनीति पर कलेक्टेªट सभागार में बैठक हुई। बैठक के दौरान सभी अधिकारियों को कोविड-19 के संक्रमण से अलर्ट रहने के निर्देश दिया गया।शत प्रतिशत प्रवासी मजदूरों के नाम व पता सूचिबद्ध किया जाय इसमे किसी भी प्रकार की शिथिलता बरती जाय, किसी स्तर से चूक न हो इसके लिए सख्त निर्देश दिया गया। ग्राम स्तरीय कमेटी प्रतिदिन की रिपोर्ट से अवगत रहने के निर्देश संबंधित अधिकारियो को दिया गया। मेडिकल स्टोर पर पैरासिटामाल, सेट्रीजीन आदि दवाओं को अधिक खरीदने वाले व्यक्तियों का नाम व पता रखना होगा। जिन विभाग के लैण्डलाइन फोन चालू नही है, उन्हें चालू कर 24 घण्टे के अन्दर रिपोर्ट प्रस्तुत करें। अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि जिन अधिकारियों की ड्यूटी लगायी गयी है वह अपने एरिया में भ्रमण करते रहें। किसी व्यक्ति में खासी, बुखार, जुखाम सहित अन्य कोविड-19 के लक्षण संज्ञान में आये तो तत्काल जिला अस्पताल लाकर जाॅच कराया जाय। निदेर्शित करते हुये कहा कि यदि किसी व्यक्ति में कोविड-19 के लक्षण मिलता है यदि उस एरिया में तैनात अधिकारी को इसकी जानकारी नही रही तो कार्यवाही सुनिश्चित होगी।
श्री अनिल ने बताया कि अनलाॅक-1 में मिले छूट का यह मतलब नही कि कोविड-19 के संक्रमण का खतरा टल गया है प्रतिदिन देश व प्रदेश में कोरोना पाजिटिव की सख्या में इजाफा हो रहा है। जिन अधिकारियों की ड्यूटी लगी है पूरी निष्ठा से इस वैश्विक माहामारी से निपटने के लिए तैयार रहना है बाहर से आने वाले व्यक्तियों पर कड़ी नजर रखकर क्वारेटाइम रखा जाय। साथ ही दिनांक 10 मई, 2020 तक बाहर से आये हुये प्रवासी मजदूरों के साथ अन्य व्यक्तियों को होम क्वारेटाइम रखने पर बल दिया। कहा जनपद में पाजिटिव मरीजों की संख्या में इजाफा न हो इसके लिए सर्तक रहा जाय किसी जगह से चूक न हो। ग्राम स्तर पर आशा, आॅगनवाड़ी, ग्राम प्रधान, सेगेटरी एवं लेखपाल की कमेटी द्वारा गाॅव में बाहर से आने वाले व्यक्तियों की प्रतिदिन का रिपोर्ट से अवगत कराया जाय। गाॅव के बुर्जुग माताओं एवं अन्य व्यक्तियों को कोरोना से बचने के लिए मास्क, सोशल डिस्टैसिंग, हैण्डवास करना केन्द्र व प्रदेश सरकार द्वारा बताए जा रहे उपायों का शत प्रतिशत लोगों में पालन कराना है। इस समय सभी विभागों को मिलकर कार्य करने के निर्देश दिये। आम नागरिकों को अपने दिनचर्या में सरल उपायों को अपनाने के लिए अधिक से अधिक प्रेरित किया जाय। बताया जाय कि कोरोना वैश्विक माहामारी से डरने की जरूरत नही, बल्कि इससे पूरी सर्तकता के साथ डटकर मुकाबला कर इसे हराना है। अनिल ने हाॅट स्पाट एरिया में ड्यूटी पर तैनात अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि इन जगहों पर तीन टीमों का ही गाॅव में प्रवेश रहेगा जिसमें स्वास्थ्य विभाग की टीम, सैनिटाइजर छिड़काव हेतु और होम डिलीवरी समाना उपलब्ध कराने वाले ही अन्दर जायेगें। हाॅट स्पाट एरियाॅ के चारों तरफ मानकों के अनुसार पूरी तरह सील रखा जायेगा। बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी डा0 एके श्रीवास्तव, अपर जिलाधिकारी वि0रा0 उपजिलाधिकारी, पीडीडीयू नगर एवं चकिया, जिला विकास अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी, डीसी मनरेगा सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थें।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!