प्राचीन मानव प्रकृति के समीप निवास करते थे: पूर्व विधायक

विनोद कुमार (संवाद्दाता)

* विश्व पर्यावरण दिवस पर वृक्षारोपण के साथ ही गोष्ठी का आयोजन।



शहाबगंज।प्राचीन मानव प्रकृति के समीप निवास करते थे इस कारणवश वह स्वस्थ रहते थे और ज्यादा दिन तक जीवित रहते थे।उक्त बातें शुक्रवार को विश्व पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य में राजपथ रेंज परिसर में वन विभाग द्वारा आयोजित गोष्ठी व वृक्षारोपण कार्यक्रम के दौरान मुख्य अतिथि पूर्व विधायक राजेश कुमार बहेलिया ने कही।
उन्होंने आगे कहा आधुनिकता के जाल में फंसकर मनुष्य पेड़ो को नष्ट कर रहे हैं जो बहुत ही घातक है।पर्यावरण असन्तुलन के कारण पृथ्वी का बढ़ता तापमान और प्रदूषण इंसानों के साथ-साथ सभी जीवों के लिए बड़ा ख़तरा बनता जा रहा है।जिसकी वजह से जीव-जन्तुओं के विलुप्त होने के साथ ही लोगों को सांस से लेकर कई गंभीर बीमारियां हो रही हैं।इन सबके पीछे वजह है पर्यावरण को पहुंचता नुकसान। जिसका प्रभाव कई जानवरों पर पड़ना शुरू हो गया है और धीरे-धीरे ये मनुष्यों तक पहुंच जाएगा।उन्होंने कहा कि हमें पर्यावरण दिवस पर बधाइयां देने के साथ ही पेड़ लगाने का भी संकल्प लेना चाहिए।वृक्ष बन्धु परशुराम सिंह ने कहा कि अगर हम ख़ुद अपने पर्यावरण का ख़्याल नहीं रखेंगे,तो धीरे-धीरे ज़िंदगी मुश्किल होती जाएगी।उन्होंने कहा कि पर्यावरण के प्रति लोगों को जागरुक करने के साथ ही सभी को पेड़ लगाने के लिए प्रेरित करना पड़ेगा।इस अवसर पर वीरेंद्र पाल,देशराज, वासुदेव सिंह,करतार सिंह,राकेश कुमार,जटा शंकर,सुरेंद्र राव आदि उपस्थित थे।कार्यक्रम का संचालन वन क्षेत्राधिकारी तारा शंकर यादव ने की।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!