अपहृत बालक को पुलिस ने बदमाशो के चंगुल से कराया मुक्त

अबुलकैश (डब्बल)

चन्दौली। बीती रात सैयदराजा कोतवाली में एक व्यक्ति द्वारा अपने बेटे के अपहरण की सूचना दी साथ ही यह भी बताया कि लड़के के बदले 8 लाख की फिरौती मांगी जा रही है। पुलिस अधीक्षक हेमंत कुटियाल ने मामले को गंभीरता से लेते हुए जनपद पुलिस को अलर्ट किया और लगभग आठ घंटे के कड़ी मेहनत के बाद पुलिस ने 3 लोंगो को गिरफ्तार किया और लड़के को सकुशल बरामद किया।
सैयदराजा के छत्रपुरा गांव के सन्तोष तिवारी का पूरा अपने घर के सामने खेल रहा था, सुबह के समय आठ बजे मोटरसाइकिल से दो ब्यक्ति पहुंचते है और उसे उठा ले जाते है। पीर दिन बच्चे के घर न पहुंचने के बाद परिजन को बच्चे के अपहरण की सूचना मोबाइल पर मिली, पिता सन्तोष ने बताया कि फोन को गम्भीरता से लेते, अपने बच्चे को खोजना शुरू कर दिया। उसके साथ खेल रहे बच्चे से जब पूछताछ किया तो उसने बताया कि आप का कोई जानने वाला सुबह ही उसे ले गया है। इसके बाद परिजन अपहरण कर्ता के बात पर गम्भीर हुए। आधे घंटे बाद फिर उसने दूसरे नंबर से बात करते हुए आठ लाख की फिरौती मांगी। सन्तोष ने पास में 50 हजार होने की बात कहा जिसके बाद बदमाशो ने 2 घंटे का समय दिया। अब बच्चे को हाथ से जाता देख घबराए हुए रात के 8 बजे कोतवाली पहुंच कर आप बीती सुनाई। जिसपर गम्भीरता दिखाते हुए इंसपेक्टर सन्तोष राय ने इसकी जानकारी पुलिस अधीक्षक को दिया। पुलिस अधीक्षक हेमन्त कुटियाल भी मामले को गम्भीरता से लेते हुए तत्काल 06 इंस्पेक्टर की अलग अलग टीम लगाया। अपहरण कर्ता को देने के 8 लाख रुपये की ब्यवस्था भी की गई। उसके बाद बदमाश के लोकेशन पर पुलिस अलग अलग पहुंच गई। लगभग आठ घंटे के बाद फेसुना से एक बदमाश को गिरफ्तार किया गया। उसके लोकेशन पर दुधारी से बच्चे और दो अन्य को गिरफ्तार किया गया। इसमें गुलजार अंसारी पुत्र नियाज अंसारी दुधारी, रोशन अली पुत्र सतेंद्र राय फेसुडा, सतेंद्र कुमार राय पुत्र जैनुल फेसुडा को गिरफ्तार किया। पुलिस अधीक्षक ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया गया है इसमें अपर पुलिस अधीक्षक प्रेमचंद के अलावा सैयदराजा इंस्पेक्टर, मुगलसराय, चन्दौली, अलीनगर व क्राइम ब्रांच को लगाया गया था।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!