मिलावटी खाद्य पदार्थों से बने फास्ट फूड को खाने से लगभग चार दर्जन लोग, बीमार मचा हड़कंप

सुरेश श्रीवास्तव (संवाददाता)

★ सात को भेजा जिला अस्पताल, तीन का सीएचसी पर चल रहा है इलाज

★ बाकी मरीजों का स्वास्थ्य टीम गांव में कर रही इलाज

★ प्रशासनिक अमले के साथ जनप्रतिनिधि भी पहुंचे गांव

★ झोलाछाप कर रहे थे बीमारों का इलाज, गांव की स्थिति बेकाबू होते देख प्रशासन को दी गई थी जानकारी

खुटार (शाहजहानपुर) । प्रशासन की अनदेखी के चलते क्षेत्र में काफी समय से मिलावटी खाद्य पदार्थों की बिक्री जोरों पर थी । लेकिन प्रशासन इस ओर कार्रवाई करने की कोई जहमत नहीं उठाई । आज उस समय प्रशासन की नींद टूटी जब एक गांव में लगभग चार दर्जन लोग मिलावटी खाद्य पदार्थों से बनी चाट खाने से बीमार हो गए ।

जानकारी के मुताबिक बीते मंगलवार को गांव के लोगों ने शाम को चाट का आनंद लिया था, जिसके बाद बुधवार सुबह से ही कुछ लोगों को उल्टी और दस्त आना शुरू हुआ । जिस पर बीमार लोगों ने गांव के ही झोलाछाप चिकित्सकों से इलाज कराना शुरू कर दिया । इसके बाद धीरे-धीरे मरीजों की संख्या बढ़ने लगी तो गांव में हड़कंप मचा ।
आज बृहस्पतिवार सुबह ग्रामीणों ने इसकी जानकारी प्रशासन को दी । जानकारी पाकर सुबह स्वास्थ्य विभाग की टीम लेकर सीएचसी प्रभारी संजीव कुमार गांव दिलीपपुर पहुंचे । चिकित्साधिकारी ने इलाज शुरू करते ही प्रशासनिक अधिकारियों को इसकी जानकारी दी । सूचना पर एसडीएम पुवाया दशरथ नंदन तथा सीओ पुवाया नवनीत कुमार तथा एसओ खुटार जयशंकर सिंह पुलिस टीम के साथ गांव पहुंच गए। चिकित्सक संजीव कुमार ने गंभीर सात मरीजों को जिला अस्पताल भिजवाया तथा तीन लोगों को खुटार सीएचसी पर भिजवा कर शेष लोगों का इलाज गांव में ही शुरू करवा कर स्वास्थ्य विभाग की टीम को गांव में रोक दिया ।

इस घटना की सूचना पाकर क्षेत्रीय विधायक चेतराम जायजा लेने के लिए गांव पहुंच गए ।
खास बात यह है कि बची हुई चाट, दुकानदार ने स्वंम खाया व उसके साथ उसके भाई राहुल तथा भाभी काजल ने भी खाई थी, जिनकी हालत भी गंभीर बताई जा रही हैं, उनको जिला अस्पताल शाहजहांपुर भेजा गया है।

जिला अस्पताल भेजे जाने वालों में राहुल 23 वर्ष, काजल 22 वर्ष, रवि 14 वर्ष, अर्पित 10 वर्ष, एस 4 वर्ष, दिव्या 11 वर्ष, संदीप 16 वर्ष के अतिरिक्त हिमांशु 8 वर्ष, मानवेंद्र व परमजीत, इन 3 लोगों को खुटार सीएचसी पर भेजा गया । इनके साथ-साथ गांव में इलाज किए जाने वालों में पुष्पेंद्र, मधु, हर्षित, अर्पणा, जूली, उपासना, शोभित, सुमित, लक्ष्य, अभय, नीतू, विनीता, ओमेंद्र, सुमन, अभिनय, सेहलम, सुनामी, मंजू देवी ,राजा सिंह, सरनाम बत्ती, गौरव, नैना देवी, मोनिका, शिवानी, आकाश, सरिता, अर्चना, ममता, ललिता ,अनुज, रेणुका, शिवम, संतरा देवी, रितिक आदि शामिल हैं । जिनकी देखरेख स्वास्थ्य टीम गांव में कर रही है ।

फूड इंस्पेक्टर ने शुरू की कार्रवाई

घटना पर गांव पहुंचे खाद्य निरीक्षक जयपाल सिंह ने चाट विक्रेता के पास रखे सामान आलू, आरारोट, रिफाइंड, मटर के सैंपल लिए चाट विक्रेता के पिता विजय बहादुर द्वारा बताए गए थोक दुकान का नाम संजय किराना स्टोर रामपुर कला पर पहुंचकर खाद्य निरीक्षक ने राग गोल्ड नामक पाम आयल का सैंपल लिया ।
क्षेत्राधिकारी के निर्देशन पर रामपुर किराना दुकान स्वामी को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है ।
वही स्वास्थ्य विभाग की टीम को गांव में रुक कर मरीजों का इलाज करने व सुरक्षा की दृष्टि से एक सब इंस्पेक्टर व कांस्टेबल को गांव में रुकने को उप जिलाधिकारी पुवाया दशरथ नंदन ने निर्देश दिए हैं ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!