LAC पर जारी तनाव के बीच भारत और चीन के बीच डिविजनल कमांडर स्तर की वार्ता हुई

भारत और चीन के बीच लद्दाख के पास लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) पर जारी तनाव के बीच दोनों देशों के बीच डिविजनल कमांडर स्तर की वार्ता हुई । इस वार्ता में मेजर जनरल रैंक के अधिकारी शामिल रहे । इस वार्ता में भी तनाव खत्म करने के संबंध में कोई नतीजा नहीं निकला। अब सेना के स्तर पर दोनों देशों के अधिकारी 6 जून को फिर वार्ता करेंगे। दोनों देशों के बीच इस स्तर की ये तीसरी बैठक हुई है ।

इससे पहले ब्रिगेडियर और कर्नल रैंक के अधिकारियों की कई मौकों पर बातचीत हो चुकी है। LAC पर तनाव कम करने के लिए सेना के साथ-साथ राजनयिक स्तर पर बातचीत चल रही है। भारत और चीन के बीच लद्दाख के पास बॉर्डर पर तनाव पिछले एक महीने से जारी है । दोनों देशों के बीच इसे बातचीत से सुलझाने की कोशिश हो रही है, लेकिन अभी तक हल नहीं निकला है ।

लद्दाख के पास मई की शुरुआत से ही चीन और भारत के बीच हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं । पहले यहां भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प-हाथापाई हुई । उसके बीच चीन ने सड़क निर्माण शुरू किया और फिर करीब 5 हजार सैनिक इकट्ठा कर लिए । इसके अलावा एयरबेस पर भी अपनी मौजूदगी बढ़ाई।

इसके जवाब में भारत ने भी सैनिकों की संख्या बढ़ाई है, तो साथ ही कुछ लड़ाकू विमान भी तैनात किए हैं । भारत की ओर से जारी सड़क निर्माण को भी नहीं रोका गया है और काम लगातार जारी है । बीते दिनों खबर थी कि चीनी सेना के लड़ाकू विमान भारतीय बॉर्डर के पास लगातार उड़ान भर रहे हैं और चीन विमानों की संख्या बढ़ा रहा है। हालांकि, चीन की हर चाल पर भारतीय सेना और एजेंसियां पैनी नजर रखे हुए हैं ।

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने भी माना है कि बॉर्डर पर हालात तनावपूर्ण हैं । पोम्पियो का कहना है कि चीनी सेना भारत के बॉर्डर की ओर बढ़ गई है । एक इंटरव्यू में माइक पोम्पियो ने भारत-चीन की स्थिति को लेकर बात की । उन्होंने कहा कि पिछले कुछ दिनों में चीनी सेना भारत के उत्तरी हिस्से की ओर बढ़ी है, लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) पर भारतीय बॉर्डर के पास चीनी सेना को देखा जा सकता है ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!