जिला अस्पताल का कोरोना वार्ड वेंटिलेटर से हुआ लैस

फ़ैयाज़ खान मिस्बाही(ब्यूरो)

ग़ाज़ीपुर । जनपद में कोरोना संक्रमितों की लगातार बढ़ रही संख्या को देखते हुए जिला अस्पताल में स्थापित कोरोना वार्ड को चार वेंटिलेटर से लैस किया गया है, जिससे किसी भी आपात स्थिति से निपटा जा सके। यही नहीं, सांस लेने में तकलीफ होने पर ऐसे मरीजों को उपचार के लिए गैर जनपद रेफर करने के बजाए उन्हें तत्काल उपचार की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। इसके लिए जौनपुर से आए विशेषज्ञ चिकित्सक ने जहां मोर्चा संभाल लिया है वहीं मरीजों की देखभाल के लिए स्वास्थ्यकर्मियों के चार सदस्यों की टीम भी गठित की गई है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से सरकारी अस्पतालों में अत्याधुनिक चिकित्सकीय सुविधा को बढ़ाने की कवायद और तेज कर दी गई है।
कोविड-19 से संक्रमित अधिकांश मरीज उचित देखभाल व खान-पान की बदौलत ठीक हो जाते हैं, लेकिन जो पहले से ही गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं उनकी स्थिति कोरोना की चपेट में आते ही खराब हो जाती है। सबसे अधिक समस्या तब होती है जब उन्हें सांस लेने में कठिनाई होने लगती है। ऐसे मरीजों में वायरस फेफड़ों को नुकसान पहुंचाता है। फेफड़ों में पानी भर जाता है, जिससे सांस लेना बहुत मुश्किल हो जाता है। शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा कम होने लगती है। तब वेंटिलेटर्स की आवश्यकता होती है, इसके जरिए मरीज के शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा को सामान्य बनाया जाता है। वेंटिलेटर मरीज के शरीर से कार्बन डाइऑक्साइड बाहर खींचता है और ऑक्सीजन को अंदर भेजता है। इसके द्वारा ही गंभीर मरीजों को बचाया जा सकता है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!