मुख्य वन संरक्षक (चीफ) का विभिन्न स्थानों पर निरीक्षण

धर्मेन्द्र गुप्ता (संवाददाता)

विंढमगंज । मुख्य वन संरक्षक आरसी झा ने शनिवार को दुद्धी व विंढमगंज रेंज के विभिन्न स्थानों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने कोरगी व पिपरडीह ग्राम के वन भूमि पर बने खनन के रास्ते व डेवढ़ी ग्राम के कनहर नदी में जाने के रास्ते को देखा जो बीती रात वन विभाग की टीम ने कटवाया था। वही कुदरी में हुए पेड़ कटान स्थल का भी निरीक्षण किया। मुख्य वन संरक्षक आरसी झा ने बताया कि रेनुकूट वन प्रभाग के विंढमगंज, दुद्धी व बघाडू वन रेंज से अवैध खनन व पेड़ कटान की शिकायते मिलती रहती है शिकायतों की सत्यता की जांच विभिन्न स्थानों निरीक्षण कर किया गया। कई स्थानों पर वन मार्ग से बालू की ढुलान हो रही थी जिसे शुक्रवार को कटवाया गया और पेड़ कटान स्थलों का निरीक्षण किया गया है। उन्होंने प्रेसवार्ता में बताया कि सुप्रीम कोर्ट ने 2017 से बालू खनन को वन विभाग से अलग कर दिया है उस पर कोई हस्तक्षेप नही। यह जिम्मेदारी अब खनन विभाग व राजस्व विभाग की है। यदि बालू का परिवहन वन भूमि या वन मार्ग से होगा तो विभाग कार्यवाही करेगी, शुल्क वसूल करेगी। अवैध बालू खनन की शिकायत मिलती है तो कार्यवाही होगी और पूरी जिम्मेदारी सम्बन्धित रेंज को होगी। उन्होंने बताया कि 25 करोड़ पौध रोपड़ का लक्ष्य है जिसे जल्द शुरू किया जायेगा।

मुख्य वन संरक्षक की टीम में मिर्जापुर एसडीओ पंकज शुक्ला व ओबरा एसडीओ जेपी सिंह, मण्डलीय उड़न दस्ता प्रभारी मनमोहन मिश्रा, रेंजर विंढमगंज विजेन्द्र श्रीवास्तव, बघाडू रेंजर रूप सिंह आदि मौजूद रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!