कोरोना, लू व धूप से लोगों का जीना हुआ मुहाल

मनोहर कुमार (संवाददाता)
– लॉक डाउन व बढ़ते तापक्रम से लोग घरों में कैद
– महामारी के साथ मौसम का मिजाज बना घातक
– सनस्ट्रोक के भी लोग हो रहे शिकार

चन्दौली। वर्तमान समय में लोग अजीब से दुश्वारियों से जूझ रहे हैं। दो महीने से कोरोना महामारी का प्रकोप झेल रहे हैं।अब लू व चिलचिलाती धूप आम जनजीवन को प्रभावित कर दिया है। बदलते मौसम के तेवर से लोग परेशान हैं। बुधवार को तापक्रम 43 डिग्री तक पहुंच गया। शरीर को झुलसा देने वाली इस धूप से बचने की कोशिश में है। 12 बजते ही सड़क सन्नाटे में तब्दील हो जाती है। लॉक डाउन के चलते पहले ही लोग घरों में कैद हैं।
इस समय दुनिया के अधिकांश देश कोरोना जैसी महामारी से जूझ रहा है। विभिन्न देशों में पचास लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। भारत में भी कोरोना अपना कहर ढा रहा है। भारत में कोरोना ने डेढ़ लाख का आंकड़ा पार कर लिया है। पिछले 24 घंटों में देश में कोरोना वायरस के 6,387 नए मामले सामने आए हैं और 170 मौतें हुई हैं।
देश में अब कोरोना पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 1,51,767 है, इसमें 83,004 सक्रिय मामले, 64,425 ठीक/डिस्चार्ज हो चुके मामले और 4,337 मौतें शामिल हैं।यह स्वास्थ्य मंत्रालय की जानकारी है। धान के कटोरे के रूप में विख्यात चन्दौली जनपद में भी कोरोना का संक्रमण अपना कमाल दिखा रहा है।यहां संक्रमित की संख्या 21 पहुंच गई है। इस वक्त लोगों को कई दुश्वारियों से जूझना पड़ रहा है। एक कोरोना जैसी महामारी से लोगों को बचाना है।इसके लिए मास्क,सैनेटाइज्ड करना है।लॉक डाउन व फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करना है। लोग दो महीने से अधिक समय से लॉक डाउन में है।इधर मौसम भी आग उगल रहा है। 43 डिग्री तक पारा चढ़ गया है।लोगों को रोजी रोटी के लिए लॉक डाउन में कुछ सहूलियत मिली है। लेकिन आग उगल रहे इन मौसम में लोग परेशान हैं। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए सुबह सात बजे से साढ़े तीन बजे तक दुकान खोलने का नियम बनाया गया है। 10 बजते ही सड़कों पर सन्नाटा पसर जा रहा है। लोग अब धूप व लू से बचने के लिए खुद को ढक कर चल रहे है।कोरोना काल मे मुसीबत लोगों की कम नहीं हो रही है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!