बैग, बोरिया, बिस्तर, बच्चों के साथ ‘बे’ बस मजदूर

मनोहर गुप्ता (संवाददाता)

– लॉक डाउन के बाद विषम परिस्थितियों का सामना
– घर वापसी के लिए कर रहे जद्दोजहद

चंदौली । कोरोना वायरस ने लोगों के जीवन को काफी बदल दिया है। इसका व्यापक असर मजदूरों के जीवन पर पड़ रहा है। लंबे समय से जीवन को नया रूप देने के लिए दूसरे राज्यों में काम कर ने वाले मजदूर एक झटके में ही सड़क पर आ गए। पिछले दो महीने से लॉक डाउन के चलते घर वापसी कर रहे हैं। वह अपने साथ फोर ‘बी’ लेकर चलने को बेबस हैं।मजदूर बैग, बोरिया, बिस्तर व बच्चों के साथ पलायन कर रहे हैं। इस भीषण गर्मी में भोजन पानी की लूट मच गई है।
कोरोना वायरस का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। इससे संसार के अधिकांश के लोग संक्रमित हो रहे हैं। पचास लाख से ज्यादा लोग दुनिया में संक्रमित हैं। लाखों लोग अब तक असमय काल कलवित हो चुके हैं।भारत में भी कोरोना वायरस अपना रफ्तार तेज कर दिया है अब तक एक लाख चालीस हजार के लगभग संक्रमित हो चुके है। इसमें अधिकांश उपचार से ठीक भी हो रहे हैं। चन्दौली में भी कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है। कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रभाव व फैलाव को रोकने के लिए देश में लॉक डाउन है।इस लॉक डाउन फेज फोर चल रहा है।कोरोना वायरस के संक्रमण का डर व लॉक डाउन का प्रभाव सबसे ज्यादा मजदूरों पर पड़ा है।विभिन्न राज्यों के मजदूर विभिन्न महानगरों में अपना रोजी रोटी चला रहे थे।लॉक डाउन के बाद आर्थिक गतिविधियों पर विराम लगने के बाद मजदूर घर वापसी कर रहे हैं। शरुआती दौर में पैदल ही घरों के लिए रास्ते नाप रहे थे।इस के बाद सरकार ने इनके लिए बस व श्रमिक ट्रेन की व्यवस्था कराई। भोजन पानीके लिए इनमें मारामारी की स्थिति बन गई।कहीं ट्रेन में बैठने के भीड़ जमा हो गई। स्टेशनों पर पानी व भोजन के लिए लूट व टूट पड़े।आज भी मजदूर पलायन कर रहे है। उनके पीठ पर बैग, जिंदगी की बनाई समानो का बोरिया,बिस्तर व बच्चों को लादकर यहाँ वहां भटकने को विवश हैं।देश के विकास में अहम योगदान देने वाले मजदूर कोरोना काल में कितना ‘ बे’ बस हैं। इस तपती दोपहरी में उन पर क्या गुजर रही है। विवशता उनपर हावी है।राजनीतिक दल पॉलिटिक्स में परेशान हैं। बस भी बेबस है।
मजदूरों की जिंदगी पटरी से उतरी है तो पटरी पर कब आएगी खुद उन्हें नहीं पता।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!