ईद-उल-फितर के चांद का हुआ दीदार, लॉकडाउन के बीच आज देश मनाएगा ईद


ईद-उल-फितर का चांद देश के विभिन्न हिस्सों में रविवार (24 मई) को नजर आया। इसी के साथ सोमवार (25 मई) को ईद मनाई जाएगी। चांद दिखने के बाद लोगों ने भी एक-दूसरे को ईद की मुबारकबाद दी। वहीं, कोरोना वायरस के प्रसार पर नियंत्रण के लिए देश में लॉकडाउन लागू हैं और मस्जिदों समेत तमाम धार्मिक स्थल बंद हैं। इसीलिए मुस्लिम धर्मगुरुओं ने लोगों से घर पर ही ईद की नमाज अदा करने का आग्रह किया है।

दिल्ली के प्रमुख मुस्लिम:

धर्मगुरुओं ने रविवार को लोगों से अपील की कि वे ईद मनाते समय सामाजिक मेलजोल से दूरी के नियम पर अमल के साथ-साथ लॉकडाउन नियमों का पालन करें। फतेहपुरी मस्जिद के शाही इमाम मुफ्ती मुकर्रम अहमद ने कहा कि चांद दिख गया है और सोमवार (25 मई) को ईद मनाई जाएगी। उन्होंने कहा, ”हमने लोगों से एक-दूसरे को गले लगाने और हाथ मिलाने से बचने के लिए कहा है।”

जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने लोगों से सादगी से ईद मनाने और गरीब लोगों तथा अपने पड़ोसियों की मदद करने की अपील की। उन्होंने कहा, ”कोरोना वायरस के कारण ईद की नमाज पारंपरिक तौर पर अदा नहीं की जा सकेगी, लेकिन लोगों समझना चाहिए कि केवल सावधानी बरतने से ही वायरस को हराया जा सकता है।”

नीतीश ने दी ईद की बधाई, कहा- घरों में रहकर मनाएं त्योहार:
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य के लोगों को ईद-उल- फितर की बधाई दी है। एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि भारत एक महान राष्ट्र है, जहां विभिन्न धर्मों के लोगों के बीच परस्पर सम्मान अनुकरणीय है। उन्होंने रविवार को कहा, ”मैं सभी लोगों को, विशेष रूप से मुस्लिम भाइयों और बहनों को ईद की शुभकामनाएं देता हूं। ईद भाईचारे, प्रेम, शांति और सांप्रदायिक सद्भाव का प्रतीक है। हम सभी को समाज, राज्य और देश को आगे ले जाने के लिए कड़ी मेहनत करनी चाहिए।”

मध्यप्रदेश: ईद-उल-फितर पर मध्य प्रदेश में नमाजी घर में ही अदा करेंगे नमाज:
कोविड-19 लॉकडाउन के बीच मध्य प्रदेश में सोमवार (25 मई) को ईद-उल-फितर पर नमाजी घर से ही नमाज अदा करेंगे और ईद की बधाई देने मुस्लिम समाज अपने घर से बाहर नहीं निकलेगा। प्रदेश के विभिन्न जिलों में हुई मुस्लिम प्रतिनिधियों की बैठकों में सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया है। भोपाल शहर काजी मुश्ताक अली नदवी ने रविवार को ‘पीटीआई—भाषा’ से कहा, ”मैंने वीडियो संदेश जारी कर अपने समुदाय के लोगों से अपील की है कि वे अपने-अपने घरों में ही ईद की नमाज अदा करें और अपने एवं अन्य लोगों की सुरक्षा के लिए गले मिलने एवं हाथ मिलाने की प्रथा से भी बचें।”

राजस्थान: ईद के दौरान घर पर रहकर नमाज अदा करने की अपील:
ईद के पर्व पर राजस्थान के राज्यपाल, मुख्यमंत्री और विधानसभा अध्यक्ष ने प्रदेश के लोगों को शुभकामनाएं दी हैं। इसके साथ ही मुस्लिम समुदाय के धार्मिक गुरूओं ने समुदाय के लोगों से सोमवार को ईद के पर्व पर घर में रहने और किसी भी धार्मिक या सामाजिक सभा से बचने की अपील की है। राज्यपाल कलराज मिश्र और विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने ईद-उल-फितर के मुबारक मौके पर प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेशवासियों को ईद-उल-फितर की मुबारकबाद देते हुए लोगों से कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन का पालन, सामाजिक दूरियां बनाये रखने और अपने घर पर ही ईद की नमाज़ अदा करने की अपील की है।

उत्तर प्रदेश: लॉकडाउन के कारण इस बार कुछ अलग होगी ईद:
इस बार की ईद कुछ अलग होगी क्योंकि कोरोना वायरस महामारी के चलते लॉकडाउन लागू है। ईद की पूर्व संध्या पर गुलजार रहने वाली अमीनाबाद, नजीराबाद, फतेहगंज, लाटूश रोड और कैसरबाग की सड़कों पर रविवार को सन्नाटा पसरा रहा। मुस्लिम धर्मगुरुओं ने अपील की है कि लोग ईद घर पर ही रहकर मनाएं। राजधानी लखनऊ के मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना खालिद राशिद फरंगी महली ने कहा कि उन्होंने हर किसी से कहा है कि ईद की नमाज घर पर ही पढ़ें। ईद घर पर मनाएं। केवल मस्जिद में रहने वाले चार-पांच लोग ही वहां नमाज पढ़ेंगे। लोगों को सोशल मीडिया के जरिए ईद की मुबारकबाद दीजिए। हाथ मत मिलाइए, गले मत मिलिए। इसके अलावा आपका ईद का जो बजट है, उसका 50 प्रतिशत गरीबों में बांट दीजिए।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!