सत्यम एकेडमी के 4 प्रतियोगियों ने सुपर टेट में पाई सफलता

रमेश यादव (संवाददाता)– सत्यम एकेडमी की गाइडलाइन और अपनी मेहनत के बदौलत 48 की उम्र में पाई सफलता विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं अब तक 75 लोग पा चुके हैं सफलतादुद्धी ।सहायक अध्यापक भर्ती के सुपर टेट परीक्षा परिणाम में 8018 शिक्षामित्रों ने अपनी मुश्किल घड़ी में कड़ी मेहनत कर अपने मुकाम को साहिल किया जिसमें ब्लाक संसाधन केंद्र के अधीनस्थ विद्यालयों में कार्यरत चार शिक्षामित्रों ने भी सफलता हासिल कर 48 वर्ष के उम्र के बाद भी अपनी कड़ी मेहनत व लगन से यूपीटेट के बाद सुपर टेट में सफलता हासिल कर युवाओ के लिए प्रेरणास्रोत बने। शिक्षामित्र भगवानदास यादव कहते है 48 वर्ष की उम्र में खुद को एकाग्र रखना उन हालातो में मुश्किल होता है जब आप जिम्मेदारियों को कंधे पर ले कर चल रहे है फिर मैंने खुद को यूपी टेट व सुपर टेट के लिए हमेशा तैयार रखा और मुझे सफलता मिली मेरे 92 अंक रहे। सुपर टेट के चयन में स्थानीय कस्बे में संचालित सत्यम एकेडमी से मुझे पठन पाठन में अच्छा गाइड लाइन मिला और मेरा चयन हुआ सत्यम एकेडमी से मैंने कई नई चीजों को पढ़ा जो मेरी लिए अहम था। प्राथमिक विद्यालय दुद्धी प्रथम में तैनात 38 वर्षीय शिक्षमित्र दिलीप अग्रहरि 103 अंक प्राप्त कर कहा कि कड़ी मेहनत की बदौलत मैंने सत्यम एकेडमी के ऊर्जावान अध्यापको के निर्देशन में सुपर टेट की तैयारी कर खुद को अपने मंजिल तक पहुचाया प्राथमिक विद्यालय फुलवार में तैनात 49 वर्षीय शिक्षामित्र रामसुंदर ने 93 अंक व प्राथमिक विद्यालय औराडण्डी में तैनात 48 वर्षीय शिक्षामित्र सोहर राम ने 100 अंक प्राप्त की। शिक्षामित्रों ने खुद को परिस्थियों के अनुकूल रख अपनी मेहनत जारी रखी और शिक्षामित्रों को मिले अंतिम अवसर में सहायक अध्यापक के लिए चयन सूची में जगह बनाई।सत्यम एकेडमी के डायरेक्टर राकेश गुप्ता ने कहा कि शिक्षामित्रों का सुपर टेट में अंतिम चयन गर्व का विषय है क्षेत्र के युवाओ को उनसे प्रेरित होना चाहिए उन्होंने कहा एकेडमी आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र में प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए वरदान साबित हो रहा है अब तक एकेडमी से विभिन्न परीक्षाओं में 75 छात्र व छात्राएं सफल हुए है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!