भाकपा के बैनर तले खेत खनन और मनरेगा मजदूरों ने जताया विरोध

नीरज सिंह सलखन (संवाददाता)

सलखन। वामपंथी ट्रेड यूनियनों के केंद्रीय आह्वान पर आज देशभर में मनाए गए ‘विरोध दिवस’ का पुरजोर समर्थन करते हुए भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी की सोनभद्र जिला कमेटी ने चोपन क्षेत्र स्थित पटवध में पार्टी के जिला सचिव कामरेड आर के शर्मा के निज आवास कार्यालय पर प्रतीकात्मक धरना दिया। जहाँ कामरेड आर के शर्मा ने कहा कि कोरोना वायरस के प्रकोप को रोकने के लिए आनन-फानन में बिना कोई योजना बनाएं देश के प्रधानमंत्री महोदय ने अचानक लाकडाउन की घोषणा करके देश के श्रमिकों,कर्मचारियों, किसानों, विद्यार्थियों सहित पूरे देश की जनता को गंभीर संकट में डाल दिया ।

कोरोना का प्रकोप फैलने से तो नहीं रुका लेकिन देश के लाखों- लाख प्रवासी मजदूरों की हालत बद से बदतर हो गई। अर्थाभाव में अपने स्थानों से अपने – अपने घरों को वापस होने के लिए श्रमिक बेचैन हो उठे और साधनाभाव में हजारों- हजार किलोमीटर पैदल व साइकिल पर बैठकर निकल पड़े। सैकड़ों मजदूरों कि मार्ग में दर्दनाक मृत्यु हो गई। इसी दौरान केंद्र सरकार ने श्रम कानूनों में संशोधन करके लाखों-लाख कर्मचारियों, मजदूरों के अधिकारों पर कुठाराघात किया। प्रदेश सरकार ने 3 वर्षों के लिए श्रम कानूनों व श्रमिक संगठनों को निलंबित करके उनके अधिकारों को छीनने का काम किया।लाखो- लाख कर्मचारियों की रहनुमाई करने वाले ट्रेड यूनियनों द्वारा आज देशभर में विरोध प्रदर्शन करके अपनी एकजुटता का परिचय देते हुए केंद्र सरकार को चेतावनी दी है कि यदि श्रम कानूनों में किए गए संशोधन वापस नहीं लिए गए और उत्तर प्रदेश में 3 वर्षों के लिए निलंबित किए गए श्रम कानूनों को अगर बहाल नहीं किया गया तो आने वाले दिनों में कर्मचारी – मजदूर मिलकर जोरदार आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे । कामरेड आर के शर्मा ने कहा है कि भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने कर्मचारियों के ट्रेड यूनियनों द्वारा किए गए विरोध प्रदर्शन का पुरजोर समर्थन किया है। जगह-जगह पार्टी कार्यकर्ताओं ने लाकडाउन का अक्षरशः पालन करते हुए मुंह में मास्क लगाकर, सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए अपने-अपने आवासों व कल कारखनों के गेट पर देश के लाखों मजदूरों द्वारा धरना दिया गया, जो इस सरकार के लिए मजदूरों के द्वारा चेतावनी भी है कि वह मजदूरों की अनदेखी न करे । वहीं कार्यक्रम में धरना स्थल पर नौजवान सभा के नेता कमला प्रसाद ने अपने संबोधन में कहा कि देश का माहौल संकटग्रस्त है अर्थाभाव में सारे लोगों का जीवन कष्टमय हो चुका है । देश का शिक्षित बेरोजगार अपने को ठगा महसूस करते हुए निराश हो चला है , हम सरकार से मांग करते हैं की बेरोजगार नौजवानों को काम दे नहीं तो बेरोजगारी भत्ता देना चालू करे और मनरेगा को और विस्तारित कर साल भर के काम की गारंटी देना सुनिश्चित करे। वहीं धरने में विचार व्यक्त करते हुए उ० प्र० खेत मजदूर यूनियन के जिला उपाध्यक्ष कामरेड अमर नाथ सूर्य ने कहा प्रदेश की सरकार ने लाकडाउन के नाम पर रोजी-रोटी बंद कर रखी है। ऑटोरिक्शा व छोटे वाहन चलाने वाले लोगो तथा ठेल, खोन्चा लगाकर अपनी रोजी-रोटी चलाने वाले लोगों के साथ खेत,खनन और असंगठित मजदूरों के सामने भी रोटी का संकट पैदा हो गया है,जनपद में भी लाकडाउन के बिच मजदूरों को रोजगार देने का हवाला देकर खनन कार्य चालू कराया गया पर मजदूरों को उनके फटेहाल पर ही छोड़ कर पुरा खनन कार्य मशीनों से ही कराया जा रहा है । सरकार को इन गरीब ,छोटे तबके के लोगों की तरफ ध्यान देकर उन्हें भी आर्थिक मदद देने का ऐलान करना चाहिए नहीं तो खेत/खनन मजदूर मजबूर होकर सड़को पर अपने हक के लिए कभी भी उतर सकता है । पार्टी का यह धरना प्रातः 11:00 बजे से दोपहर 3:00 बजे तक चला। इस दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं द्वार मास्क लगाकर सोशल डिस्टेंसिंग का पुरा ख्याल रखा गया । जहाँ मौके पर कामरेड मोहम्मद मुस्तफा खाॅ, कामरेड फूलमती देवी, कामरेड रामअधार, कामरेड राम लखन, कामरेड मोहन, कामरेड प्रेम चंद्र गुप्ता व कामरेड संजय रावत प्रमुख रुप से मौजूद रहे ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!