तीसरे दिन भी वन संरक्षक लखनऊ सहित टीम काचन जंगल में कटान की कर रही है जांच

एस प्रसाद (संवाददाता)

■ पहली बार वन विभाग का कोई बड़ा अफसर तीन दिनों से कर रहा जांच

■ लोगो में कार्यवाही को लेकर बढ़ी उत्सुकता

■ लोगों ने कहा- गिर सकता है कई लोगों का विकेट

■ म्योरपुर वन रेंज के अधिकारी व कर्मचारियों की परत दर परत खुल रही पोल

■ लोगों ने कहा- पूरे रेनुकूट वन प्रभाग की हुई जांच तो प्रदेश का सबसे बड़ा भ्रष्टाचार का मामला आ सकता है सामने

■ बभनी व डाला रेंज भी किसी से कम नहीं, यहां भी जोरों से मिलीभगत से होती है लकड़ियों की तस्करी

■ हर दिन अधिकारी को मिल रहे हैं नए-नए मामले

■ भीषण गर्मी में भी मुख्य वन संरक्षक जांच पूरी करने में जुटे

म्योरपुर। वन प्रभाग रेनुकूट अंतर्गत रेंज म्योरपुर के काचन जंगल मे मुख्य वन संरक्षक लखनऊ पंकज मिश्रा द्वारा गठित पांच टीमें तीसरे दिन भी काचन के जंगल में हुए कीमती पेड़ो के अवैध कटान की जाँच कर रही है।मुख्य वन संरक्षक पंकज मिश्रा के निर्देश पर गठित पांच टीमो में ओबरा,राबर्ट्सगंज,रेनुकूट डिवीजन के विभिन्न रेंजों के कर्मचारी व अधिकारी शामिल है। जांच में कोई भी खामी न रहे इसके लिए मुख्य वन संरक्षक व नोडल अधिकारी पंकज मिश्र स्वयं टीम की अगुवाई कर रहे है।गुरुवार को जांच टीम द्वारा जंगल मे पूर्व व वर्तमान में हुए अवैध कटान की रिपोर्ट तैयार की गई है। जिन पेड़ो पर केस काटा गया है और जिस पर केस नही काटा गया है सब की अलग अलग रिपोर्ट तैयार की जा रही है।आज तीसरे दिन संभावना व्यक्त की जा रही है कि जांच पूरी हो जाएगी और जांच टीम द्वारा रिपोर्ट तैयार कर मुख्य वन संरक्षक पंकज मिश्रा को सौप सकते हैं। जांच टीम एक-एक खूंटों को खंगाल रही है।टीम के आसपास मौजूद ग्रामीणों द्वारा बताया जा रहा है कि जहां आज तीसरे दिन भी व्यापक पैमाने में कीमती पेड़ो की अवैध कटान पाई जा रही है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!