शुक्रवार से रेलवे स्टेशनों पर काउंटर से आरक्षण करा सकेंगे यात्री

कोरोना वायरस के कारण देश में लॉकडाउन लागू है । हालांकि, अब धीरे-धीरे इसमें ढील दी जा रही है। संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए रेलवे ने स्टेशनों पर काउंटर से टिकट बुकिंग की सुविधा भी बंद कर दी थी । अभी जो भी ट्रेनें चल रही हैं उसके लिए यात्रियों को ऑनलाइन ही टिकट बुक करना होता है, लेकिन अब रेलवे ने फैसला लिया है कि काउंटर से भी टिकट बुक किए जा सकेंगे ।

यात्री शुक्रवार से रेलवे स्टेशनों पर काउंटर से आरक्षण करा सकेंगे । रेलवे के बयान के मुताबिक, आरक्षित यात्रा के लिए यात्री स्टेशनों, रेलवे परिसरों में काउंटर से टिकटों की बुकिंग करा सकेंगे । टिकटों की बुकिंग के दौरान सोशल डिस्टेंसिग की जिम्मेदारी जोनल रेलवे की होगी ।

इससे पहले रेल मंत्री पीयूष गोयल ने बताया था कि आम लोगों को बहुत जल्द रेलवे स्टेशन के काउंटर से भी टिकट मिल पाएगी. इसके लिए रेल विभाग की टीम सुरक्षा के सभी इंतजामों की समीक्षा कर रही है । एक बार सभी इंतजाम सही पाने के बाद आम लोगों के लिए टिकट काउंटर खोल दिए जाएंगे । रेल मंत्री ने उम्मीद जताई कि अगले 1-2 दिनों की भीतर काउंटर से टिकट खरीदने की सेवा बहाल हो सकती है ।

रेलवे की तरफ से जारी बयान के मुताबिक, रिजर्व्ड टिकट की बुकिंग और कैंसिलेशन की सुविधा पोस्ट ऑफिस और यात्री टिकट सुविधा केंद्र लाइसेंस रखने वालों को भी दी गई है । इसके अलावा जो IRCTC के आधिकारिक एजेंट हैं, रेलवे परिसर में पैसेंजर रिजर्वेशन सिस्टम और कॉमन सर्विस सेंटर्स को भी ऑफलाइन टिकट बुक करने का अधिकार दिया गया है ।सभी जगहों पर सोशल डिस्टेंसिंग को मानना होगा।

रेलवे ने यात्रियों की सुविधा के लिए 1 जून से 200 पैसेंजर्स ट्रेनों को चलाने की घोषणा की । इन ट्रेनों के लिए गुरुवार यानी आज सुबह 10 बजे बुकिंग शुरू हुई । बता दें कि रेलवे ने एसी स्पेशल और श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के अलावा इन 200 ट्रेनों को चलाने की घोषणा की है । इन ट्रेनों में जनरल बोगी के लिए भी टिकट बुक करवाया जा सकता है । बिना कन्फर्म टिकट इन ट्रेनों में यात्रा की इजाजत नहीं होगी ।

बता दें कि लॉकडाउन के कारण रेल सेवा पूरी तरह से ठप थी । रेलवे ने पहले अलग-अलग राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूरों के लिए पहले श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाने का फैसला लिया । इस ट्रेन से प्रवासी लोगों को उनके राज्यों तक पहुंचाया जा रहा है । वहीं 12 मई से 15 जोड़ी स्पेशल ट्रेन भी पटरी पर दौड़ना शुरू हुई ।हालांकि, 15 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें पूरी तरह से एसी हैं । ये ट्रेन नई दिल्ली और देश के अलग-अलग 15 हिस्सों में चलाई जा रही हैं ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!