25 का स्वैब भेजा गया जांच के लिये।

फ़ैयाज़ खान मिस्बाही (ब्यूरो)

ग़ाज़ीपुर। नगर के कचहरी रोड स्थित रेलवे जोनल ट्रेनिग सेंटर में क्वारंटाइन महाराष्ट्र से लौटे श्रमिक व संक्रमितों के संपर्क में आए 25 लोगों का स्वैब गुरुवार को जांच के लिए वाराणसी भेजा गया है। इसके साथ ही वहां अन्य आइसोलेट प्रवासियों की निगरानी भी मेडिकल टीम द्वारा की जा रही है। अब तक 1835 संदिग्धों की जांच कराई गई है, जिसमें 1364 की रिपोर्ट निगेटिव, 60 पाजिटिव व 386 पेंडिग रिपोर्ट पर मेडिकल टीम की नजर है। वहीं 13 दिन बाद स्वस्थ होने पर वाराणसी के पंडित दीनदयाल राजकीय अस्पताल से संक्रमित एक युवक को डिस्चार्ज कर दिया गया। हाइरिस्क प्रांतों से घर लौट रहे प्रवासियों को लेकर जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की ओर से विशेष सतर्कता बरती जा रही है। इन्हें क्वारंटाइन सेंटरों में रखकर अधिकारियों द्वारा लगातार निगरानी करने के साथ रिपोर्ट शासन को भेजी जा रही है। इसी क्रम में महाराष्ट्र से लौटे श्रमिकों व संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों की मेडिकल टीम द्वारा स्वैब ली गई, जिससे कोरोना के संक्रमण पर अंकुश लगाया जा सके। एक तरफ कोरोना संक्रमितों की बढ़ रही संख्या ने जहां अधिकारियों की मुश्किल बढ़ा दी है। वहीं निगेटिव की संख्या ने कुछ राहत भी दी है। इधर नंदगंज थाना क्षेत्र खिदिरपुर गांव में कोरोना संक्रमित मिले युवक को वाराणसी स्थित पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!