लख़नऊ की टीम ने किया कोरगी पिपरडीह बालू खनन साइड की जांच

धर्मेन्द्र गुप्ता (संवाददाता)

◆ लखनऊ की टीम ने लगभग 3 घण्टे की कोरगी पिपरडीह बालू खनन साइड की जांच

◆ नोडल टीम पंकज मिश्रा की नेतृत्व में लखनऊ से आई थी टीम

◆ जांच टीम ने स्वीकार की अनियमितता लेकिन मीडिया को बताने से किया इनकार

◆ जांच रिपोर्ट शासन को सौंपेगी उच्च स्तरीय टीम

◆ कोरगी पिपरडीह बालू खनन साइड पर अनियमितता की शिकायत को लेकर दुद्धी विधायक ने लिखा था पत्र

विंढमगंज । कोरगी बालू साइट पर अनियमितताओं के साथ हो रहे खनन की एक शिकायत पर शासन द्वारा गठित जांच हेतु एक उच्च स्तरीय टीम आज बुधवार सुबह करीब साढ़े 10 बजे कनहर नदी बालू साइट पहुँची। करीब 3 घंटे कोरगी व पिपरडीह साइट के स्वीकृत खनन रकबे व वन भूमि को नक़्शे से ट्रेस कर सभी कोनों से जीपीएस रीडिंग ली गयी और चीफ नोडल ने प्रत्येक रीडिंग को स्वयं नोट किया साथ ही नदी में चल रहे करीब आधे दर्जन चल रहे पोकलेन की विडियोग्राफी भी किया। नदी के धार में बनाये अस्थाई मार्ग व रेत खनन से नदी में बने बड़े बड़े गढ्ढों की भी फ़ोटोग्राफी की। करीब तीन घंटे जांच के बाद टीम यहां से वापस हुई। लखनऊ मुख्यालय के चीफ नोडल पंकज मिश्रा व कंजर्वेटर प्रयागराज राजीव मिश्रा के नेतृत्व में कोरगी पहुँची टीम ने नदी को घूमकर प्रत्येक फारेस्ट की सीमांकन चिन्हों से खनन की स्थिति से अवगत हुए। अनियमितताओं को देखकर व पूछताछ में गोलमटोल जबाब सुनकर चीफ नोडल ने रेंजर को फटकार भी लगाई। नदी में जगह जगह खनन कर बनाये गए बड़े बड़े गढ्ढों के बावत पूछने पर साइट संचालक ने बताया कि नदी में तीन मीटर गहरा खनन की अनुमति है।

पूरे नदी की वीडियो ग्राफी व तस्वीर लेकर जीपीएस रीडिंग के साथ टीम जाबर गांव की तरफ से पिपरडीह साइट पहुँचकर फारेस्ट की प्रत्येक सीमा से जीपीएस रीडिंग लेकर खनन से नदी में बने बड़े गढ्ढे व अस्थाई रपटे की जांच कर टीम यहां से वापस हुई। मीडिया से बातचीत में नोडल चीफ पंकज मिश्रा ने बताया कि यह जांच शासन के निर्देश पर एक शिकायत पर की जा रही है।सारी रीडिंग ली गयी है। गूगल से वन क्षेत्र में हुए खनन की वास्तिवक स्थिति का पता लगाकर रिपोर्ट शासन को भेजी दी जाएगी। उन्होंने माना कि और भी अनियमिताएं है जो उनके अधिकार क्षेत्र से बाहर है,जिसे दूर करना खनन व राजस्व विभाग की नैतिक जिम्मेदारी है।मैं वन क्षेत्र की स्थिति की जांच में आया था।
इस मौके पर डीएफओ सोनभद्र संजीव कुमार, डीएफओ रेनुकूट एमपी सिंह, एसडीओ काशी दिनेश कुमार सिंह, रेनुकूट वन प्रभाग के एसडीओ मनमोहन मिश्रा, एसडीओ कुंजमोहन वर्मा के साथ कई रेंज के रेंज अफसर मौजूद रहे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!