निर्माणाधीन पीएमजीएसवाई सड़क में पुरानी सड़क का अलकतरा युक्त गिट्टी डालने का आरोप

रमेश यादव ( संवाददाता )

दुद्धी ब्लॉक क्षेत्र के अमवार मार्ग दिघुल से टेढ़ा गांव तक लगभग 2 करोड़ रुपये की लागत से बन रही हैं लगभग 6 किलोमीटर सड़क

दुद्धी । गांवों को शहर से जोड़ने के लिए भारत सरकार द्वारा चलाई जा रही प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत दुद्धी ब्लॉक क्षेत्र के टेढ़ा, निमियाडीह औऱ दिघुल गांव से होते हुए अमवार रोड तक बनाई जा रही। निर्माणाधीन सड़क में पुरानी सड़क की अलकतरा युक्त गिट्टी डालने का आरोप ग्रामीणों ने ठेकेदार पर लगाया है। टेढ़ा गांव के बी डी सी श्याम किशोर, पूर्व बीडीसी सरजू प्रसाद तथा अजीत, सत्यनारायण, जुगुल, आनन्द सहित अन्य ग्रामीणों का आरोप है कि प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क का ठेकेदार व उसके आदमी सड़क निर्माण में पूर्व सड़क की अलकतरा युक्त गिट्टी को डालकर रोलर से दबाया जा रहा है जबकि पुरानी सड़क की गिट्टी खराब व अलकतरा युक्त होने के नए गिट्टी से पूरी तरह मिक्स नही हो पाएगी ।

ग्रामीण का आरोप है कि ठेकेदार द्वारा अभी पहले ही कोड गिट्टी डालने में यह हाल है तो आगे क्या होगा यह समझा जा सकता है तो वहीं ठेकेदार के आदमी मनमानी करते हुए सड़क की चौड़ाई कही 4 मीटर तो कहीं तीन या साढ़े तीन मीटर ही ले रहे जबकि उसी तरह सड़क के दोनो तरफ दो – दो मीटर पटरी के लिए मिट्टी डालना है लेकिन ठेकेदार के आदमी कही एक से डेढ़ मीटर तो कहीं एक मीटर भी पटरी नही बना रहे हैं। जिससे प्रधानमंत्री सड़क की तय मानक पूरा नहीं हो पा रही हैं। बता दें कि तीन गांवों को मेन सड़क से जोड़ने के लिए लगभग 6 किलोमीटर प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क का निर्माण लगभग 2 करोड़ रुपये की लागत से की जा रही हैं जो टेढ़ा, निमियाडीह और दिघुल गांव की दुद्धी अमवार मार्ग से जोड़ेगी ।जिस पर पहले कोड गिट्टी डालने की शुरुआत टेढ़ा गांव से हुई हैं।

पीएमजीएसवाई के एक्सियन ई रमेश चंद्रा कटियार ने कहा कि प्रधानमंत्री ग्रामीम सड़क का निर्माण पूरी तरह तय मानक के अनुसार कराने के लिए सम्बन्धित ठेकेदार को कहा गया है । यदि सड़क निर्माण में मानक की अनदेखी व गुणवत्ता की कमी पाई जाती हैं तो सम्बन्धित ठेकेदार जिम्मेदार होंगे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!