गए थे साले की शादी में, फंस गए लॉक डाउन में, बारातियों का छलका दर्द

भाष्कर चतुर्वेदी (संवाददाता)

■ दो माह बाद घर पहुचंने की जगी उम्मीद

■ शादी में जौनपुर, कानपुर और बनारस से छत्तीसगढ़ गये थे लोग

आसनडीह । कोरोना से जहां पूरे देश को जबरदस्त आर्थिक झटका लगा है और देश में एक बड़ा परिवर्तन दिखने लगा है । वहीं कोरोना की वैश्विक महामारी के चलते इस बार वैवाहिक कार्यक्रमों को भी झटका लगा। लॉक डाउन के पहले लग्न का शुभ मुहूर्त चल रहा था । मगर कोरोना की अशुभ इंट्री से शुभ लग्न में ग्रहण लग गया । इस दौरान कई शादियां टल गई तो कई कम लोगों के साथ शादी निपटा लिए । लेकिन कुछ ऐसे लोग थे जिनकी शादी की तारीख तय थी और वे खुशी-खुशी शादी में शरीक होने गए लेकिन अचानक उसी रात लॉक डाउन हो गया जिसके कारण वे उसी जगह लॉक डाउन में फंस गए । ऐसा ही मामला आज रविवार को अठ्ठारह लोगो का समूह छत्तीसगढ़ की सीमा पर
पहुंचा।
जानकारी के मुताबिक जौनपुर के रहने वाले शीतल ने बताया कि साले की शादी थी और वह उस शादी समारोह में शरीक होने चला गया था। वह कभी सोचा भी नहीं था कि अचानक लॉक डाउन हो जाएगा और यहीं दो माह रहना पड़ेगा। उसने बताया कि सैकड़ों की संख्या में लोग सीमा पर पहुंच रहे है। उसने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा बसों के माध्यम से कोरेनटाइन केन्द्र पर लाया जा रहा है। फिर वहां से लोग जगह-जगह भेजे जा रहे है। अब लोगों की उम्मीद जगी है कि वे घर पहुंच जाएंगे ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!