बिना क्वॉरेंटाइन किए घर वापस आ रहे हैं श्रमिकों से ग्रामीणों में भय

शैफारी रस्तोगी (संवाददाता)

सिरौली बरेली। इस समय भारत के अलग-अलग राज्यों से सभी लोग अपने-अपने राज्य व घरों में वापस लौट रहे हैं। इनमें कुछ लोग मुंबई दिल्ली हैदराबाद आदि अलग-अलग जगहों से वापस आ रहे हैं जिनके दिन प्रतिदिन कोविड -19 से पीड़ित होने की खबरें आ रही हैं। जब यह श्रमिक वापस अपने घर आ जा रहे हैं तब इनको 21 दिनों के लिए घर में क्वॉरेंटाइन किया जा रहा है जिससे इनके आस पास क्षेत्र तथा मिलने वालों में करोना संक्रमण का खतरा बढ़ जा रहा है। इस गतिविधि से अन्य लोगों को भी मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे हालात में लोगों में कोरोना को लेकर भय है लोगों ने शासन से मांग की है कि इन लोगों को पूर्ण रूप से क्वॉरेंटाइन करने के बाद घर आने दिया जाय। जिससे उनके मोहल्ला व गांव सुरक्षित रह सके।
।इस बात पर रामनगर चिकितसा प्रभारी ने बताया कि उनपर जैसे आदेश है हम बेसा ही कर रहे है जाँच के बाद सभी को 21 दिन अपने घर में रहने की सलाह दी जा रही हैं ।जबकि कोतवाल राहुल सिंह का कहना है कि हमारा काम बाहर से आये लोगों को जांच के लिए रामनगर अस्पताल में भेजना है पुलिस अपना काम कर रही हैं ।कुल मिलाकर इन लोगों को अपने घर रहने पर लोगों में इस बीमारी के फैलने को लेकर दहशत का माहौल बना हुआ है ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!