एसपी के हस्तक्षेप के बाद दर्ज हुआ नाबालिग छात्रा के साथ यौनशोषण का मामला

पी0 के0 विश्वकर्मा (संवाददाता)

■ पुलिस छानबीन में जुटी, आरोपी फरार

कोन । स्थानीय थाना क्षेत्र की निवासी कक्षा 9 में पढ़ने वाली एक दलित छात्रा ने अपने ही गांव के एक युवक पर यौनशोषण का आरोप लगाते हुए थाने में तहरीर दिया । मगर स्थानीय थाने की अनदेखी की वजह के बाद पुलिस अधीक्षक के हस्तक्षेप से शनिवार को कोन थाने में मामला पंजीकृत किया गया ।

जानकारी के अनुसार नाबालिग छात्रा ने अपने ही गांव के एक आरोपी युवक पर आरोप लगाते हुये तहरीर दिया कि वह 14 मई दिन गुरुवार अपने घर के बरामदे में सोई थी कि रात्रि लगभग 11 बजे उसी गांव का आरोपी युवक आकर उसके मुंह को रूमाल से बांधकर जबरदस्ती यौनशोषण करने लगा। किसी प्रकार शोरगुल की तो पास के ही खलिहान में सोई माता-पिता जब तक पहुंचते तबतक आरोपी युवक फरार हो गया । पीड़िता के पिता ने बताया कि सुबह होते ही तहरीर कोन थाने में दिया, परन्तु कोन पुलिस पर टालमटोल का आरोप लगाते हुये कहा कि शनिवार को हम सभी पीड़ित ओबरा विधायक से गुहार लगाते हुये पुलिस अधिक्षक आशीष श्रीवास्तव के पास जाकर आपबीती बताई, जिनके हस्तक्षेप पर शनिवार को दोपहर बाद कोन थाने में धारा 376 (2) 3/4 पास्को व एसी एसटी एक्ट के तहत मामला पंजीकृत कर कार्यवाही शुरू की गयी।
प्रभारी निरीक्षक राजेश सिंह ने बताया कि तहरीर मिलते ही यौनशोषण का मामला पंजीकृत कर मामले की जांच शुरू कर दिया गया है और जल्द ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जायेगा।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!