गोवंश मौत के मामले में बड़ी कार्यवाही, पशु चिकित्सक व अधिशासी अधिकारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज, हड़कम्प

राजेश गुप्ता (संवाददाता)

पीलीभीत। जनपद पीलीभीत की नगर पंचायत बरखेड़ा में गोवंश की मौत के मामले पर जिलाधिकारी ने बड़ी कार्यवाही करते हुए अधिशासी अधिकारी बरखेड़ा और पशु चिकित्साधिकारी के खिलाफ पशु क्रूरता अधिनियम के अंतर्गत मुकदमा दर्ज किया गया है।
सूत्रों द्वारा जानकारी के अनुसार मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ अखिलेश कुमार गर्ग द्वारा थाना बरखेड़ा में दी गयी तहरीर में बताया कि 7 मई को दो ट्रकों से लगभग 40 गोवंश पशुओं को पशु चिकित्साधिकारी बरखेड़ा डॉ वीरपाल सिंह तथा नगर पंचायत बरखेड़ा के अधिशासी अधिकारी राकेश कुमार के द्वारा जनपद की तहसील अमरिया की ग्राम भरा पचपेड़ा गौशाला के लिए भेजा था। भरा पचपेड़ा पहुंचने पर गौशाला के देखरेख कर रहे रंजीत सिंह ने 4 गायों की मौत होने की बात कही थी, बाकी शेष गायों को भरा पचपेड़ा की गौशाला में रख लिया गया था । लेकिन रंजीत सिंह के अनुसार शेष सभी गाय की हालत गंभीर बताई गई थी । जिनमें 8 गायों की और मौत हो गई, जिनको नदी के किनारे फेंक दिया गया था। प्रकरण को गंभीर मानते हुए विभागीय जांच की गई जिसमें यह पाया गया कि मृतक गायों के गले में मिले टैगों के आधार पर गायों की पहचान की गई थी। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी के द्वारा दिए गए प्रार्थना पत्र के आधार पर अधिशासी अधिकारी नगर पंचायत बरखेड़ा राकेश कुमार चौबे और पशु चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर वीरपाल सिंह के खिलाफ पशु क्रूरता अधिनियम के अंतर्गत मुकदमा दर्ज कराया गया है।

वहीं जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने बताया कि अधिशासी अधिकारी नगर पंचायत और पशु चिकित्सा अधिकारी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी गई है प्रकरण से संबंधित सभी लोगों के खिलाफ कार्यवाही के लिए शासन को पत्र भेजा जा रहा है जिन की लापरवाही होगी उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!