दस परिवार मुम्बई से सिधौना (ग़ाज़ीपुर) ऑटो से पहुंचे

फ़ैयाज़ खान मिस्बाही (ब्यूरो)

ग़ाज़ीपुर । खानपुर कोरोना संक्रमण काल में पलायन का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। जनपद की सीमा पर प्रतिदिन सैकड़ों लोगों का गोमती पुल पर जमावड़ा लग रहा है। वाराणसी पुलिस की लापरवाही और प्रशासनिक अनदेखी से पैदल, बाइक सवार, आटो, टैक्सी और ठेला से आए लोगों की भीड़ सिधौना पुलिस के लिए सरदर्द बन रही है। रविवार की सुबह दस आटो चालक अपनी पत्नी, बच्चों व बुजुर्ग मां-बाप के साथ मुंबई से ऑटो से ही चलकर सिधौना गोमती पुल पहुंचे थे। इन आटो चालकों के साथ सात बाइक सवार लोग भी इनके साथ मुंबई से यहां पहुंचे हैं। बिहार, कासिमाबाद, मऊ, बलिया और नंदगंज के आटो चालकों ने बताया कि मुंबई के अलग-अलग शहरों से हम लोगों को दबाव डालकर भगाया जा रहा है। मकान मालिकों द्वारा मकान से निकाला जा रहा है। पड़ोसी दुकानदार राशन देने से मना कर रहे हैं। इस हालत में परिजनों को लेकर घर लौटना ही एकमात्र विकल्प बचा था। छोटे-छोटे बच्चों, महिलाओं व बुजुर्गों को लेकर लगातार सात दिनों से चलते हुए यहां तक पहुंचे हैं। कई बच्चों की हालत खराब है और महिलाओं को उल्टी दस्त और चक्कर आ रहा है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!