मुख्यमंत्री का अभियान “घर चलो” ला रहा है प्रवासी उत्तराखंडियों के चेहरे पर खुशी, सभी बोले थैंक यू सर

देहरादून-लॉकडाउन के दौरान अन्य राज्यों में फंसे प्रवासियों के लिए शुरू किया अभियान “घर चलो” लाने का सिलसिला शुरू हो चुका है। इसी क्रम में आज गुरूग्राम से हजारों फंसे प्रवासियों को वापस उत्तराखंड लाया जा रहा है। प्रदेश सरकार के प्रयासों से फंसे हुए लोगों की घर वापसी हो रही है। करीब 1.70 लाख प्रवासियों ने सरकार द्वारा दी गई वेबसाइट पर रजिस्टे्रशन कराया है। जिसके बाद सरकार ने उन्हें उनके घरों तक पहुंचाने का वादा किया। आज गुरूग्राम से कुमाऊं क्षेत्र के सैकड़ों प्रवासियों को लेकर बसें उत्तराखंड के लिए रवाना हो चुकी है।

प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि सभी फंसे हुए प्रवासियों को उनके घर तक पहुंचाया जायेगा। इस संकट की घड़ी में सभी धैर्य रखे। सरकार आपके साथ है। सरकार हर फंसे हुए प्रवासी को उनके परिजनों तक पहुंचायेगी। वही प्रदेश के परिवहन मंत्री यशपाल आर्य के प्रयासों की लोग सराहना कर रहे हैं। गुरूवार को भी सैकड़ों लोगों को लेकर बसें हल्द्वानी के गौलापार स्टेडियम पहुंची, जहां से युवाओं की स्कैनिंग और मेडिकल परीक्षण कर उन्हें कुमाऊं भर के जिलों के लिए रवाना कर दिया गया।

राज्य सरकार प्रवासियों को निशुल्क बसों में लाने के साथ-साथ उनके खाने-पीने की भी व्यवस्था कर रही है। आज बस में बैठने के बाद युवाओं ने कहा कि उनसे किसी तरह के टिकट और खाने का पैसा नहीं वसूला गया है। सरकार द्वारा उनकी घर वापसी को लगाई गई बसों की युवाओं को प्रशंसा की। बसों में बैठने के बाद युवाओं के चेहरे पर मुस्कान नजर आयी।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!