पुलिस ने फर्जीवाड़े का किया खुलासा, ट्रक में लगी नंबर प्लेट से हुआ खुलासा

सुरेश श्रीवास्तव (संवाददाता)

खुटार (शाहजहांपुर)

ट्रक के नंबर प्लेट के आधार पर की गई जांच में पुलिस द्वारा बुलाए गए पूर्व ट्रक मालिक ने थाने में तहरीर देकर सनसनीखेज खुलासा करते हुए बताया कि हादसे में पकड़ा गया ट्रक उसका नहीं है उस पर लगी नंबर प्लेट वाले ट्रक को पूर्व में बेचा जा चुका है । उक्त पकड़े गए ट्रक में रजिस्ट्रेशन नंबर के अतिरिक्त चेचिस नंबर व इंजन नंबर बदला हुआ है ।
बताते चलें कि 25 अप्रैल दिन शनिवार को सुबह थाना क्षेत्र के गांव रामपुर कला में मोपेड सवार पिता पुत्र को गेहूं भरे ट्रक ने पीछे से टक्कर मार दी थी । जिसमें जिसमें पुवाया थाना क्षेत्र के ग्राम नौहा निवासी पिता संतोष की मौके पर ही मौत हो गई थी । उक्त मामले में संतोष के भाई मुरारीलाल ने थाने में तहरीर देकर मुकदमा पंजीकृत कराया था हादसे की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने गेहूं भरे ट्रक को कब्जे में लेकर थाने ले आई थी जबकि चालक मौके से फरार हो गया था । पुलिस ने ट्रक नंबर के आधार पर ट्रक मालिक की तलाश कर सूचना देखकर थाने बुलाया बीते कल रविवार को थाने पहुंचे नंबर प्लेट के आधार पर ट्रक मालिक अमरचंद वर्मा ने ट्रक देखते ही सनसनीखेज खुलासा करते हुए बताया यह ट्रक मेरे द्वारा बेचा हुआ नहीं है केवल इस पर नंबर प्लेट मेरे द्वारा बेचे हुए ट्रक की लगी है जो फरवरी मांह में खुटार के एक व्यापारी के हाथ ₹310000 में बेचा गया था जिसकी एनओसी 12 मार्च 2020 को निकलवा कर दी गई थी हालांकि खरीदने वाले ने एनओसी लेने के बाद भी ट्रक के कागज अपने नाम ट्रांसफर नहीं कराए हैं इस सनसनीखेज कारनामे की तहरीर पूर्व मालिक द्वारा थाने में दी गई है हालांकि थाना ही में खड़े ट्रक से गेहूं गायब है।
उक्त संबंध में एसओ जयशंकर सिंह ने बताया कि पकड़े गए ट्रक में लदा गेहूं खुटार के एक आढती का था जो कि एफसीआई जा रहा था । व्यापारी द्वारा प्रार्थना पत्र गेहूं को अपने विवेक अनुसार रिलीज कर दिया है।
ट्रक के फर्जी फिकेशन के बारे में बताया ट्रक खरीदने वाला मालिक अभी लखनऊ में है उसके वापस आने पर ही कौन सही कौन गलत का पर्दाफाश हो सकेगा।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!