Covid-19:मोटापा और जरूरत से ज्यादा वजन हैं बड़ी समस्या,कोरोना से होने वाली मौतों के लिए हैं जिम्मेदार, ये प्रमुख कारण

कोरोना से होने वाली मौतों के लिए खराब खुराक अहम वजह है। ये कहना है ब्रिटेन में भारतीय मूल के हृदय रोग विशेषज्ञ डॉक्टर असीम मल्होत्रा का। उन्होंने चेताया है कि वे वायरस के खिलाफ प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए पैकेट बंद खाद्य सामग्री का इस्तेमाल कम से कम करें। ब्रिटेन की राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा में कार्यरत डॉक्टर मल्होत्रा ने बताया कि मोटापा और जरूरत से ज्यादा वजन बड़ी समस्या है, जो कोरोना से होने वाली मौतों के लिए जिम्मेदार प्रमुख कारण है।

अधिक वजन वालों को ज्यादा खतरा:
डॉ. असीम के अनुसार टाइप 2 मधुमेह, उच्च रक्तचाप और दिल की बीमारियां कोरोना से मौत के खतरे को बढ़ाती हैं। इनका कारण ज्यादा वजन और मेटाबोलिज्म संबंधी विकार हैं। अमेरिका और ब्रिटेन जैसे कुछ पश्चिमी देशों में इस वायरस से मुत्यु दर दुनिया में सबसे ज्यादा है। इसके अस्वास्थ्यकर जीवन शैली से संबंधित होने की संभावना है। अमेरिका और ब्रिटेन में 60 फीसदी से ज्यादा वयस्कों का वजन अधिक है।

10 गुना ज्यादा मौत का खतरा:
उन्होंने कहा कि अगर लोग स्वस्थ जीवन शैली के जरिए मेटाबोलिक स्वास्थ्य के मापदंडों को बनाए रखने की कोशिश करें, तो वे खुराक में बदलाव करके कुछ हफ्तों में ऐसा कर सकते हैं। हाल में ‘नेचर’ पत्रिका में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, टाइप 2 मधुमेह और मेटाबोलिज्म संबंधी विकार से पीड़ित लोगों में कोरोना से मौत होने का खतरा 10 गुना ज्यादा हो सकता है।

सब्जी-फलों के अधिक सेवन की सलाह:
उन्होंने कहा कि भारतीय लोग परिष्कृत कार्बोहाइड्रेट भोजन का सेवन उच्च मात्रा में करते हैं। यह अधिक मात्रा में लिया जाता है तो नुकसानदेह होता है क्योंकि यह शर्करा और इंसुलिन को बढ़ाता है। इसमें आटे और चावल का अधिक सेवन भी शामिल है। डॉक्टर ने कहा कि भोजन में सब्जियां और फल को सेवन अधिक करें। जो लोग मांसाहार का सेवन करते हैं, वे लाल मांस और अंडा, मछली आदि खा सकते हैं।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!