नहीं सुनाई देती ट्रेनों के परिचालन की आवाज सन्नाटे में है ए प्लस ग्रेड डीडीयू जंक्शन

मनोहर कुमार (संवाददाता)

– सुरक्षा कर्मी व रेलकर्मी निभा रहे ड्यूटी

डीडीयू नगर। देश के ए प्लस ग्रेड श्रेणी में शुमार डीडीयू जंकशन लॉक डाउन के चलते सन्नाटे में पसरा है।कभी 24 घण्टे यात्रियों व ट्रेनों के आवागमन का गवाह यह जंकशन पिछले एक महीने से शांत है। केवल रेल व सुरक्षा कर्मी एक योद्धा की भांति कर्तव्य निभा रहे हैं। भूखे को भोजन कराने में लगे हैं। सर्कुलेटिंग एरिया में भी शांति का बोलबाला है।
देश मे कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लॉक डाउन किया गया है।इस लॉक डाउन में यात्री ट्रेनों को रोक दिया गया है।हावड़ा व दिल्ली रुट को जोड़ने वाला डीडीई जंकशन 24 मार्च के पहले तक गुलजार था। यहां प्रतिदिन 400 जोड़ी ट्रेनों का ठहराव होता है।विभिन्न शहरों व प्रदेशों से हजारों यात्री यहां ट्रेन पकड़ने आते व जाते हैं।यहां पर हजारों लोगों की रोजी रोटी चलती थी। वहीं स्टेशन के बाहर विभिन्न वाहनों के स्टैंड गुलजार थे।जहां से यात्री वाहन पकड़ कर अपने गंतव्य को जाते थे। लेकिन लॉक डाउन ने परिस्थिति बदल दी है।जंकशन पर परिचालन रुका हुआ है। स्टेशन यात्रियों के कोलाहल व हलचल से गुलजार रहता था। ट्रेनों के आने व खुलने की जानकारी ध्वनि विस्तारक यंत्रों से दी जाती थी।गर्मी के दिनों में यात्री स्टेशन के बाहर ट्रेन के इंतजार में ठंडी हवा का लुत्फ लेते थे।इस समय सभी परिस्थितियों के अनुसार चल रहा है।गर्मी के दिनों में यात्री खाना पानी के लिए संघर्ष करते थे। बदली परिस्थितियों में यहां की स्थिति काफी बदल गई है । नहीं टीटीई, न ही टीसी नही चालक व गार्ड दिखाई देते है। केवल कर्म योद्धा के रूप में रेल कर्मी व सुरक्षा कर्मी अपनी ड्यूटी निभा रहे हैं।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!