आँनलाइन शिक्षा मे जिले मे अव्वल है चोपन शिक्षा क्षेत्र

पी.के.विश्वकर्मा (संवाददाता)

-तीन हजार बच्चे ले रहे है आनलाईन शिक्षा


कोन। महामारी कोविड- 19 के संक्रमण को रोकने के लिए जारी लाक डाउन के कारण विद्यालय बंद होने से नौनिहालों का शिक्षा का स्तर दिनप्रतिदिन गिरते जा रहा था।जिसे उठाने हेतू इस विषम परिस्थिति मे नौनिहालों को नियमित शिक्षा देने के लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय से जारी गाइडलाइन के क्रम मे स्कूली शिक्षा महानिदेशक के आदेश के अनुपालन मे खण्ड शिक्षा अधिकारी चोपन मुकेश कुमार के अथक प्रयास से चोपन ब्लाक के 195 परषदीय विद्यालयों के शिक्षकों द्वारा शिक्षकों व अभिभावकों का विद्यालय वार व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से कक्षावार पाठ्यक्रम के अनुसार नियमित शिक्षा देने की कवायद चल रही है।जिससे वर्तमान मे ब्लाक के लगभग 3000 नौनिहालों को ई लर्निंग शिक्षण से लाभान्वित हो रहे है। इस प्रकार ई- लर्निंग शिक्षा देने मे वि.ख. चोपन का जनपद मे अग्रणी पायदान पर देखा जा रहा है।


खण्ड शिक्षा अधिकारी चोपन मुकेश कुमार ने बताया कि नौनिहालों का भविष्य को देखते हुये शासन के मंशा के अनुरूप इस विषम परिस्थिति मे कार्यरत अध्यापकों/ शिक्षामित्रों को प्रेरित कर अपने विद्यालय सेवित क्षेत्रों के अभिभावकों से सम्पर्क कर व्हाट्सएप नं लेकर विद्यालय वार व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से मार्च से ही आनलाईन शिक्षण कराने कि कवायद शुरू कर दी गयी थी जो वर्तमान मे वि.ख. चोपन के 195 विद्यालयों के लगभग तीन हजार नौनिहाल आँनलाइन शिक्षण कराया जा रहा है।जिसकी समय समय पर बच्चों तथा अभिभावकों से फोन द्वारा फीडबैक भी लिया जा रहा है।जिसके लिए नियुक्त एआरपी को क्षेत्रवार ड्यूटी भी लगाई गयी है।जो अभिभावकों व शिक्षकों से प्रतिदिन फोन कर ई-लर्निंग का मानिटरिंग किया जा रहा है।बीईओ ने ये भी बताया कि विकास खण्ड चोपन के लगभग सौ विद्यालय ऐसे है जहां कोई नेटवर्क नही है वहां ई.लर्निंग शिक्षण मे बधा उत्पन्न हो रही है वैसे दुर्गम क्षेत्रों मे मैसेज के माध्यम से अभिभावकों को प्रेरित किया जा रहा है।एआरपी विद्यासागर, मनीष श्रीवास्तव, श्रवण कुमार, धर्मेंद्र प्रसाद ने बताया कि प्रतिदिन क्षेत्रवार अभिभावकों से फोन कर दिये गये शिक्षण मैटेरियल का होमवर्क कराने हेतू प्रेरित किया जा रहा है जिसका फीडबैक भी अच्छा मिलना शुरू हो गया है।

इस प्रकार कोरोना संक्रमण के कारण उत्पन्न हुये विषम परिस्थिति मे आँनलाइन शिक्षा अब परषदीय विद्यालयों मे भी कारगर साबित हो रहा है।जिसका ग्रामीण क्षेत्रों के ग्रामीणों ने भी सराहना कर रही है।खण्ड शिक्षा अधिकारी ने बताया कि और बेहतर ई- लर्निंग पाठशाला चलाने हेतू निरन्तर प्रयास जारी है सभी अभिभावकों से क्रियान्वयन करने का अपील किया है।वही सभी शिक्षकों को कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए जागरूक भी करने का अपील किया। बतादे कि जनपद के सभी आठों विकास खण्ड मे आँनलाइन शिक्षण शुरू कराया गया है जो वर्तमान मे चोपन जनपद मे अव्वल है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!