परिवार व जायदाद के बीच उलझी हत्याकांड की गुत्थी

राजीव दुबे (संवाददाता)

विंध्याचल । विगत 11 अप्रैल की रात्रि में स्थानीय थाना अंतर्गत कचरिया नई बस्ती स्थित आटा चक्की व्यवसायी राधेश्याम मौर्या की अज्ञात हमलावरों द्वारा गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। 18 दिन बाद भी हत्या का कारण स्पष्ट नही हो पाया है । स्थानीय पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीम पूरी मुस्तैदी के साथ लगातार लोगों से पूछताछ कर रही है । हत्या वाले दिन तो ऐसा प्रतीत हो रहा था कि दूसरे दिन ही मामला स्पष्ट हो जाएगा, पर हत्या का कारण स्पष्ट करने व सही हत्यारों को पकड़ने को लेकर पुलिस अधीक्षक द्वारा दिये गए निर्देश के पश्चात इस हत्या की गुत्थी पुलिस के गले की फांस बन गई है। सूत्रों की माने तो पुलिस दोहरी जाँच प्रक्रिया में उलझी हुई है। पहला मार्ग मृतक के परिजनों की तरफ रंजिश तो दूसरा मार्ग भूमाफियाओं के तरफ है। मृतक के पास कुछ खास मौके की ज़मीन भी उपलब्ध थी। अगर भूमाफियाओं का हाथ हुआ तो मामला सुलझाने में पुलिस को नकोचने चबाने पड़ सकते है। क्योंकि विगत दो दसकों में भूमि सम्बन्धित कुछ ऐसी हत्याएं हो चुकी है , जिसके खुलासे ने पुलिस विभाग पर प्रश्नचिंह लगा दिए थे । काफी लोग आज भी उन हत्याओं के पीछे कुछ भूमाफियाओं का ही हाथ मानते है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!