लॉक डाउन में गिर रही बेजुबानों की सेहत भोजन के लिए भटक रहे दर-दर

मनोहर कुमार (संवाददाता)
– दरवाजे दरवाजे रोटी के लिए बा रहे मुँह
कुछ फरिश्ते भी कर रहे इनकी सेवा

डीडीयू नगर। कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने के लिए लॉक डाउन किया गया है।लॉक डाउन के चलते जरूरत मन्द लोगों को भोजन व राशन पहुंचाने के लिए सरकार व समाजसेवी आगे हैं।लेकिन इस संकट में बेजुबान भी फंसे हैं।भोजन के अभाव में बेजुबानों की सेहत गिर रही है।वह भोजन के लिए दर दर भटक रहे हैं। दरवाजे दरवाजे मुंह बाकर खड़े हो जा रहे हैं। इन बेजुबान की मदद करने व इनको राशन पानी की व्यवस्था करने के लिए कुछ फरिश्ते भी कार्य कर रहे हैं।
भारत के साथ पूरे विश्व में इस समय कोरोना महामारी का आतंक फैला है।विश्व के विभिन्न देशों में लाखों लोग इसके संक्रमण से पीड़ित हैं तो हजारों में मौत के मुंह मे असमय ही समा गए। भारत में भी मरीजों की संख्या 20 हजार के पार चली गई। इसके लिए लॉक डाउन किया गया। लॉक डाउन के चलते सारे गतिविधियों में रोक लगी है।साथ ही सामाजिक दूरी भी बना कर रखनी है। गरीब व जरूरत मंदों को राशन व भोजन पहुंचाने के लिए सरकार व समाज सेवी आगे आएं हैं ।प्रतिदिन मानवता की सेवा कर रहे हैं। लेकिन इसके इतर बेजुबानो की सेहत भोजन के अभाव में गिर रही है। नगर सहित आसपास के क्षेत्रों में बहुत से जानवर भूखे प्यासे इधर उधर विचरण कर रहे हैं। सब्जी मंडी बन्द होने खेतों में अनाज कटाई व लॉक डाउन के चलते लोगों के बाहर न निकलने से इन्हें भोजन मुहैया नहीं हो पा रही है।जानवर दरवाजे दरवाजे भटक रहे हैं। कहीं एक दो रोटी मिल जा रही है।कहीं कूड़े में कई जानवर भोजन के लिए झपट पड़ रहे हैं। ऐसे मेंकुछ फरिश्ते भी सामने आ रहे हैं।इन्हीं में शामिल हैं भागवत नारायण चौरसिया। मजदूर नेता श्री चौरसिया बेजुबानो को कुछ न कुछ खिलाते रहते हैं।डीडीयू नगर।बेजुबानों के सेहत के प्रति सतर्क समाचार वितरक सेवा समिति के प्रदेश महामंत्री भागवत नारायण चौरसिया ने शुक्रवार को दर्जनों जानवरों को अन्न व फल खिलाया। श्री चौरसिया ने कहा कि इस कोरोना महामारी से सबको बचाना है।लॉक डाउन में बेजुबानों को भी बचाना है।यही सच्ची मानवता व देशभक्ति है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!