भारतीय क्रिकेट प्रेमियों को लगा झटका, “वाइरस के कारण निकट भविष्य में नही होगा क्रिकेट का कोई आयोजन”- सौरभ गांगुली

क्रिकेट पूरा दुनिया कोविड 19 वाइरस से त्राहिमाम कर रही है, वही भारतीय क्रिकेट फैन्स अभी भी उम्मीद लगाए हुए है कि लाकडाउन के बाद क्रिकेट के मैच होगे। इस उम्मीद पर भारतीय क्रिकेट फैंस को बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली के बयान से बड़ा झटका लग सकता है, दरअसल, सौरव गांगुली ने कहा है कि कोरोना वायरस के कारण निकट भविष्य में भारत में किसी तरह का क्रिकेट मैच का आयोजन नहीं होगा। कोरोना वायरस के कारण क्रिकेट कैलेंडर रुका हुआ है और सभी तरह की सीरीज, टूर्नामेंट्स रद्द या स्थगित कर दिए गए हैं।
हालिया दिनों में हालांकि कई देशों में कोराना के मामलों में गिरावट आई है और जर्मनी इनमें से एक है। इसीलिए जर्मनी अपनी फुटबॉल लीग को दोबारा शुरू कर सकता है। गांगुली ने हालांकि कहा कि भारत की परिस्थिति जर्मनी से अलग है। गांगुली ने अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया से कहा, ‘जर्मनी और भारत की सामाजिक हकीकत काफी अलग है। निकट भविष्य में भारत में क्रिकेट नहीं होगी। इसमें काफी सारे अगर-मगर हैं। सबसे अहम कि जहां जान का जोखिम हो, वहां खेल के पक्ष में मैं नहीं हूं।
कोरोना वायरस के कारण ही भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच मार्च में खेली जाने वाली तीन मैचों की वनडे सीरीज रद्द कर दी गई थी। इसी के साथ 29 मार्च से शुरू होने वाला आईपीएल भी अनिश्चितकाल के लिए निरस्त कर दिया गया है। BCCI को अभी IPL के लिए कोई नई डेट नहीं मिल रही है। इससे पहले BCCI ने IPL को 15 अप्रैल तक स्थगित किया था, इस उम्मीद में कि अगर हालात सुधरते हैं तो कोई उपयुक्त डेट को देखकर टूर्नामेंट को आयोजित किया जा सके, लेकिन लॉकडाउन के 3 मई तक बढ़ने से सभी संभावनाएं खत्म हो गईं।

सौरव गांगुली ने कहा, ‘अभी जो हालात हैं उनमें IPL का आयोजन होना मुश्किल है।’ इस समय एयरपोर्ट बंद हैं, लोग घरों में फंसे हैं, दफ्तर बंद हैं, कोई भी कहीं नहीं जा सकता और ऐसा लग रहा कि मई के मध्य तक ऐसा ही चलता रहेगा।’
गांगुली ने कहा था कि जब पूरी दुनिया में सबकुछ बंद है तो खिलाड़ी कैसे आएंगे और अगर खिलाड़ी नहीं आते हैं तो फिर टूर्नामेंट का आयोजन कैसे कराना संभव हो पाएगा। आपको खिलाड़ी कहां से मिलेंगे, खिलाड़ी यात्रा कहां से करेंगे। यह तो बेहद साधारण कॉमन सेंस की बात है, पूरी दुनिया में किसी भी तरह से खेल के पक्ष में इस वक्त कुछ भी नहीं है, आईपीएल तो भूल ही जाइए।
इससे पहले BCCI ने अपने बयान में कहा था, ‘देश का स्वास्थ्य और उसकी सुरक्षा हमारे लिए पहली प्राथमिकता है। बीसीसीआई फ्रेंचाइजी मालिकों, ब्रॉडकास्टर, प्रायोजकों और सभी हितधारकों के साथ स्वीकार करता है कि आईपीएल 2020 का सीजन केवल तभी शुरू होगा जब हालात बेहतर होंगे।’
कभी सौरव गांगुली के टीम मेट रहे हरभजन सिंह ने कहा था कि जब आइपीएल टीमें ट्रेवल करेंगी तो एयरपोर्ट्स, होटल और स्टेडियमों के बाहर बहुत सारे लोग होंगे। हम उन्हें कैसे रोक सकते हैं और इस तरह कैसे सोशल डिस्टेंसिंग बन पाएगी। ऐसे में जब तक कोरोना वायरस की वैक्सीन नहीं बन जाती तब तक क्रिकेट का आयोजन होना ही नहीं चाहिए।
बीसीसीआई ने कहा, ‘बोर्ड अपने सभी हितधारकों के साथ घनिष्ठ साझेदारी में स्थिति की निगरानी और समीक्षा करना जारी रखेगा और भारत सरकार, राज्य सरकारों और अन्य राज्य नियामक संस्थाओं से मार्गदर्शन लेना जारी रखेगा।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!