सांगोबांध में लॉकडाउन के दौरान दिखा ऐसा नजारा, छत्तीसगढ़ बार्डर का गांव है सांगोबांध

जनपद न्यूज ब्यूरो

सागोबांध । जहां पूरे देश में लॉक डाउन है और आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सारी सेवाएं बन्द है ।वहीं लॉकडाउन 2 के दौरान 20 अप्रैल से जिन सेवाओं में छूट दी गयी है उसके लिए जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने न सिर्फ विज्ञप्ति बल्कि वीडियो जारी कर लोगों को बताया था । लेकिन बभनी थाना क्षेत्र के सांगोबांध में जिस तरीके से बाजारों में रौनक दिख रही है वह न सिर्फ लॉकडाउन का उल्लंघन है बल्कि लोगो की जिंदगी के साथ खिलवाड़ भी है । जिले स्तर पर अधिकारी जिस तरह से मेहनत कर अब तक जनपद को कोरोना मुक्त रखा है, कुछ इलाके में लापरवाही अंतिम समय में जनपद को दागदार न कर दें ।

आपको बतादें कि सांगोबांध छत्तीसगढ़ के बॉर्डर का गांव है । अति दुरूह व पिछड़े गांव में शामिल सांगोबांध की यह तस्वीर अधिकारियों को काफी परेशान कर सकती है । लेकिन यह तस्वीर किसी बड़े लापरवाही से कम नहीं है।
अब सवाल यह उठता कि स्थानीय पुलिस व प्रधान ने इसे रोका क्यों नहीं । अब तो जांच का विषय है कि अधिकारियों को इस मामले की जानकारी दी गई थी कि नहीं । क्योंकि यदि समय रहते प्रशासन नहीं चेती तो बड़ा नुकसान हो सकता है । क्योंकि तस्वीर के मुताबिक यहां लोग न तो सोशल डिस्टेंस का पालन कर रहे हैं और ना ही नियमों का । क्योंकि पूरे जनपद में दुकान खुलने का और बंद करने का समय प्रशासन द्वारा पहले ही निर्धारित किया जा चुका है । तो ऐसे में देर शाम यह दुकाने किसके आदेश से खुल रही है ।अब देखने वाली बात यह होगी कि प्रशासन इस पर क्या एक्शन लेता है ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!