लॉक डाउन-2 को सफल बनाने के लिए डीएम ने मजदूरों के साथ किया भोजन

दीनदयाल शास्त्री ब्यूरो

-प्रशासन का साथ देने के लिए डीएम ने जनपद वासियों को दिया धन्यवाद

कार्यस्थल पर सोशल डिस्टेंसिंग पालन करने हेतु तीसरी आंख का भी ले रहे सहारा

पीलीभीत । कोबिड नाइन्टिन जिला अधिकारी वैभव श्री वास्तव पीएम नरेंद्र मोदी के जारी आदेशों को गम्भीरता से लेते हुए,जनपद की जनता को जागरूक करने के अपील करते हुए प्रगतिशील बने हुए हैं।
क्योंकि कोबिड नाइनटीन वैश्विक महामारी बीमारी से बचाने के लिए दिन रात जनपद के अगल अगल क्षेत्रों में लॉक डाउन -2 का जायजा ले रहे हैं,
साथ ही जनता को जागरूक भी लगातार कर रहे हैं।
जिला प्रशासन की सूझबूझ के बदौलत ही यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने जनपद पीलीभीत को प्रथम श्रेणी का जनपद घोषित किया है।
क्योंकि जहां कोरोना संक्रमित मरीज होने के पश्चात भी प्रशासन की सूझबूझ के चलते कोरोना वायरस से मुक्त हो कर विजय हासिल की है।

वही जिला अधिकारी द्वारा जनपद के क्षेत्रों में लॉक डाउन का निरीक्षण करने के दौरान खेतों में गेहूँ फसल की कटाई कर रहे मजदूरों के सम्मुख गत मंगलवार को एक ऐसी स्थिति आई कि वह अभी भी अचंभित हैं।
क्योंकि उन्हें अभी भी विश्वास नहीं हो रहा हैं, कि हमारे जनपद का मुखिया तिलमिलाती धूप में खेतों में आ गए।
पीलीभीत जनपद के जिला अधिकारी वैभव श्रीवास्तव मंगलवार को दोपहर के समय बिलसंडा ब्लॉक क्षेत्र में लॉकडाउन -2 की स्थिति का भ्रमण कर जायजा लेने आये थे।
और बीसलपुर बिलसंडा रोड पर जनपद के अधिकारियों का जत्था गौहनियां गांव के पास से गुजर रहा था,
वही डीएम क्षेत्र का जायजा लेते हुए इर्दगिर्द अपनी पैनी नजर लगाए हुए चौकन्ने बने गाड़ी में बैठे हुए देखते जा रहे थे।
एकाएक उनकी नजर खेतों में काम कर रहे मजदूरों पर पड़ी।
आनन फानन में ड्राइवर को संकेत देकर गाड़ी रुकबा दी,डीएम गेंहू के खेत में मजदूरों के पास जा पहुंचे तो देखा कि मजदूर पसीने में लथपथ होकर गेंहू फसल की कटाई का काम कर रहे हैं।
वही जत्थे के सभी अधिकारी भी अपने मुखिया के साथ खेतों में जा पहुंचे।
जब तक कोई कुछ समझ पाता, तब तक डीएम ने अपने अर्दली से गाड़ी में रखे लंच पैकेट लाने का संकेत किया।
जहां कटाई कर रहे मजदूरों से पहले तो डीएम ने बात की।
उनसे कुछ जानकारी भी ली। जिसके बाद उन्होंने सभी को लंंच पैकेट दिए,
और मजदूरों के साथ ही खेत में घास फूस पर बैठकर लंच करने लगे।
हालांकि डीएम ने लंंच के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखा।
इसके साथ मजदूरों की समस्या को पूछते हुए उन्हें संक्रमण से बचने की जानकारी दी गई। डीएम के साथ बैठकर लंचकर चुके मजदूरों को अब भी विश्वास नहीं हो रहा था।

दरअसल कोबिड नाइन्टिन की लड़ाई में पीलीभीत जनपद को उत्तर प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ द्वारा प्रदेश का मॉडल जनपद घोषित किया जा चुका है।

वही डीएम ने ट्यूट कर पीलीभीत की जनता को प्रशासन का साथ देने के लिए हृदय से धन्यवाद दिया गया है।
और अभी भी अत्यधिक सावधानी व सर्तकता बरतते हुए लॉक डाउन को और भी गम्भीरता से लेने की आवश्यकता है की बात कही है।
जिससे जनपद पीलीभीत में कोई और कोरोना का केस न आने पाये।अनावश्यक घरों से बाहर न निकलने की अपील की है।

क्योंकि जिला अधिकारी वैभव श्री वास्तव एवं पुलिस अधीक्षक अभिषेक दीक्षित लॉक डाउन-2 को सफल बनाने के लिए प्रगतिशील बने हुए हैं।
स्वयं जनपद के अलग अलग क्षेत्रों का खुद व ड्रोन कैमरे से निरीक्षण कर जायजा ले रहे हैं।साथ ही जनता को जागरूक कर रहे हैं।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!