लॉकडाउन के दौरान ओबरा की घटना ने खोली कानून व्यवस्था की पोल, आखिर भीड़ जुटी कैसे, कहाँ रहा सोशल डिस्टेंस?

कृपा शंकर पांडेय/घनश्याम पांडेय(संवाददाता)

■ ओबरा प्लांट की घटना में 4 आरोपी गिरफ्तार

■ मृतक के पिता ने कहा- कैसे उठाएंगे दो बच्चों की जिम्मेदारी

ओबरा । 17 अप्रैल को बिल्ली मारकुंडी के एक प्लांट पर दिनदहाड़े चोरी के आरोप में चोपन गांव निवासी जीतू चौधरी पुत्र कल्लू चौधरी की कुछ लोगों ने इस कदर बेरहमी से पिटाई की कि उसकी मौत हो गई। घटना के बाद ओबरा थाना क्षेत्र में हड़कंप मच गया । घटना की सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने व्यक्ति जीतू चौधरी को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चोपन ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया । मौत की सूचना जैसे ही घरवालों को पहुंची पूरे घर में कोहराम मच गया । पिता कल्लू चौधरी की तहरीर के आधार पर पुलिस ने उसी दिन बंटी उर्फ प्रवीण सिंह आदि अन्य के खिलाफ धारा 304 में मुकदमा दर्ज कर लिया । घटना को लेकर राजनीतिक दल भी सक्रिय हो गए और उन्होंने पूरे घटना की निंदा करते हुए जांच की मांग करने लगे।
घटना के दूसरे दिन से सोशल मीडिया पर एक व्यक्ति के पिटाई का वीडियो वायरल होने लगा । उस वायरल वीडियो के बारे में बताया जाने लगा कि यह वीडियो उसी प्लांट का है । सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो की जानकारी होने के बाद पुलिस महकमे में एक बार फिर हड़कम्प मच गया । वायरल वीडियो को लेकर दावा किया जा रहा था कि यह वीडियो उसी व्यक्ति का है जिसे चोर बताकर पीटा जा रहा है। वीडियो में व्यक्ति को पीटते हुए एक महिला भी दिख रही है, जो अपशब्दों का प्रयोग करते हुए व्यक्ति को बेरहमी से पीट रही है । इस वीडियो के वायरल होने के बाद पुलिस भी हरकत में आ गयी और आज पुलिस ने घटना में शामिल चार लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया । लेकिन अभी भी मुख्य अभियुक्त पुलिस की गिरफ्त से बाहर है ।

इस संबंध में पुलिस अधीक्षक आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि 17 अप्रैल को ओबरा थाना क्षेत्र के बिल्ली मारकुंडी में एक केसर प्लांट पर हुई घटना के क्रम में 4 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया है जो घटना में शामिल थे। उन्होंने बताया कि मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी भी जल्द कर ली जाएगी ।

वही मृतक जीतू चौधरी के पिता कल्लू चौधरी ने बताया कि पुलिस मुख्य आरोपी को अभी तक गिरफ्तार नहीं कर सकी है । जबकि अन्य-अन्य लोगों को गिरफ्तार कर रही है । मृतक के पिता का कहना है कि उसे शांति तभी मिलेगी जब बंटी गिरफ्तार होगा और उसे कड़ी सजा मिलेगी। मृतक के पिता कल्लू चौधरी ने बताया कि उसके बेटे जीतू के चले जाने से उसके ऊपर बहुत बड़ी जिम्मेदारी आ गई है। मृतक के दो छोटे-छोटे बच्चे हैं, बच्चों की मां कुछ महीने पहले ही गुजर चुकी है । ऐसे में बच्चों के सिर से मां-बाप का साया चले जाने से अब उनकी पूरी जिम्मेदारी उनके ऊपर आ पड़ी है। उन्हें कुछ भी नहीं सूझ रहा कि आखिर वे इस उम्र में उनकी जिम्मेदारी कैसे पूरी करें ।

बहरहाल पुलिस ने घटना को लेकर 4 अभियुक्तों को गिरफ्तार जरूर कर लिया है मगर अभी भी पुलिस की गिरफ्त से मुख्य आरोपी फरार है । ऐसे में सवाल ये उठता है कि जब जनपद में लॉकडाउन चल रहा है और पुलिस का कड़ा पहरा है तो आरोपी गिरफ्त से बाहर कैसे चल रहा ।
वही घटना को लेकर भी जनपद में चर्चाओं का बाजार गर्म है । पुलिस के ऊपर कई गंभीर सवाल खड़े हो रहे हैं । वायरल वीडियो में साफ तौर पर देखा जा रहा है कि घटना के वक्त कई लोग वहां मौजूद थे जो घटना को अंजाम दे रहे थे । अब ऐसे में ओबरा थाना क्षेत्र में दिनदहाड़े जिस तरह से कानून की धज्जियां उड़ाई गई वह न सिर्फ पुलिस के लिए शर्मसार करने वाला है बल्कि लॉकडाउन का पूरी तरह से उल्लंघन भी है ।

अब देखने वाली बात यह है कि अधिकारी इस घटना को लेकर पुलिस की इस लापरवाही पर क्या कार्रवाई करती है । क्योंकि इस शर्मसार करने वाली घटना से न सिर्फ एक व्यक्ति की जान चली गई बल्कि दो मासूम बच्चों के सिर से उसके बाप का साया भी चला गया ।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!