95 लेबरों को ले जा रही ट्रक को पुलिस ने बॉर्डर पर पकड़ा, सभी को किया क्वारंटिन

धर्मेंद्र गुप्ता (संवाददाता)

◆ स्वास्थ्य विभाग सभी लेबरों की कर रही है जांच

◆ विण्ढमगंज के भारती इंटर कॉलेज में सभी को किया गया कँवारटाइन

◆ रास्ते में केवल बिस्कुट खाकर आ रहे थे श्रमिक

विंढमगंज । लॉक डाउन में घर जाने के लिए किस तरीके से लोग जोखिम भरे कार्य कर रहे हैं, इसका ज्वलंत प्रमाण रविवार को दोपहर देखने को मिला। एक ट्रक में 95 लोग भूसे की तरह भरकर फरीदाबाद से बिहार ओर जा रहे थे। कई जिलों की सरहदें व बॉर्डर पड़ने के बाद भी पुलिस को चकमा देकर निकलने में वे कामयाब रहे। लेकिन अंततः दुद्धी क्षेत्र के बॉर्डर पर वह ट्रक पुलिस की सक्रियता से पकड़ ली गई ।

पुलिस उपाधीक्षक संजय वर्मा के नेतृत्व में सर्किल के हर थानों पर वहनों पर पैनी नजर रखी जा रही हैं ।जिसके कारण उत्तर प्रदेश-झारखंड के बॉर्डर यह ट्रक पकड़ा गया । सभी 95 श्रमिकों को गाड़ी से उतार उनका नाम पता नोट किया जा रहा है। दुद्धी से स्वास्थ्यकर्मियों की टीम कोवेड-19 बी टीम के प्रभारी डॉ संजय गुप्ता के नेतृत्व में रवाना हो चुकी थी। बिहार के पटना के पास एक गांव के रहने वाले राम सागर ने बताया कि फरीदाबाद से 17अप्रैल की रात 9:00 बजे 94 श्रमिक ट्रक संख्या बीआर 01 जीई 2843 में सवार होकर निकले थे ।मथुरा-आगरा- कानपुर-इलाहाबाद होते हुए मिर्जापुर से सोनभद्र आए हैं ।

बिहार के मुंगेर के रहने वाले संजय सिंह ने बताया कि 17 तारीख से ही हम लोग केवल बिस्कुट खा कर किसी तरह यहां पहुंचे हैं । रास्ते में सुनसान जगह देखने पर हम लोग बाथरूम करने उतरते थे। ये सभी लेबर बिहार जा रहे थे। बताया जाता है कि वैशाली जिले के आठ, बांका जिले के 60, मुंगेर जिले के 24 व जमुई जिले के 2 लोग ट्रक में सवार थे। रात्रि में कहीं सुनसान जगह देखकर यह लोग लघुशंका व शौच के लिए रुकते थे। सभी श्रमिकों को नाम पता नोट करके विंढमगंज भारतीय इंटरमीडिएट कालेज में बने क्वॉरेंटाइन सेंटर में रखा गया है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!