जिलाधिकारी हुए सख्त, हर पात्र को मिलना चाहिये योजना का लाभ

फ़ैयाज़ खान मिस्बाही (ब्यूरो)

ग़ाज़ीपुर । गाजीपुर, जिलाधिकारी लॉक डॉउन की स्थिति में इस बात का खास खयाल रख रहे है कि जो भी योजनाएं हैं उसमें जो उसके पात्र हो उन तक हर हाल उसका फायदा पहुँचे। इसी क्रम में जिलाधिकारी ओमप्रकाश आर्य ने बाराचवर ब्लाक के करकटपुर गांव का निरीक्षण किया। यहां उन्होंने पाया कि पात्रों को भी खाद्यान्न व उज्ज्वला योजना का लाभ नहीं मिल रहा है। इस पर उन्होंने खेद व नाराजगी जताया। जिला पूर्ति अधिकारी को पत्र जारी निर्देश दिया कि गांव में कैंप लगाकर राशन कार्ड में सुधार करते हुए इन्हें तत्काल योजनाओं का लाभ पहुंचाया जाए।

करकटपुर में एक ही स्थान पर अनुसूचति जाति के करीब 15-20 घरों में 50 व्यक्ति निवास कर रहे हैं। यह आसपास के ईट भट्ठों पर मजदूरी करके जीवनयापन करते हैं। निवासरत व्यक्तियों में से बलिराम पुत्र शिवनाथ एवं अमावस पुत्र मुन्ना के पात्र गृहस्थी के राशन कार्ड का अवलोकन किया। उन्होंने पाया कि उक्त व्यक्तियों को एक यूनिट का पात्र गृहस्थी का राशन कार्ड निर्गत किया गया है, जबकि उनके परिवार में 4-5 व्यक्ति एक साथ रह रहे हैं। ऐसे स्थिति में एक यूनिट का राशन कार्ड बनाया जाना शासन की नीतियां के विपरीत एवं उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा उपलब्ध कराए जा रहे खाद्यान्न, उज्ज्वला योजना आदि लाभों से वंचित किया जाना प्रतीत हो रहा है। यह स्थिति अत्यन्त ही खेदजनक है। उन्होंने निर्देश दिया कि उक्त ग्राम पंचायत में कैंप आयोजित को उनकी पात्रता के अनुसार उनके राशन कार्ड में यूनिट की संख्या निर्धारित करने तथा उज्जवला योजना से लाभांवित कर एक सप्ताह के भीतर आख्या से अवगत कराने को कहा है।
वहीं स्थानीय तहसील जखनिया अंतर्गत ग्राम सभा आराजी कस्बा स्वाद बहरियाबाद विकासखंड सादात तहसील जखनिया जनपद गाजीपुर के अंतर्गत कोटेदार कुसुम देवी पत्नी राजाराम द्वारा माह अप्रैल का राशन पैसा लेने के बाद ही दिया जा रहा है जबकि प्रार्थी गण कई बार कहा कि हम लोग मनरेगा में काम किए हैं और शासन द्वारा यह निर्देश जारी है कि मनरेगा मजदूरों की पात्र गृहस्थी कार्ड पर मुफ्त में राशन मिलना है लेकिन संबंधित कोटेदार सक्रिय जॉब कार्ड धारकों से भी पैसा लेकर तथा घट तोल कर राशन दे रहा है इस मामले को ग्राम वासियों ने सामूहिक रूप से जिलाधिकारी को पत्र लिखकर शिकायत किया है जिसमें रेहाना पत्नी सुल्तान, रमेश चंद पिता नंदलाल, शाहिदा बेगम शाहिद जहीदुन निशा पत्नी शाकिर, शब्बीर हसन पिता सफी, नूरुद्दीन, बदरुद्दीन, शाहजहां, आदि लोगों ने कोटेदार कुसुम देवी पत्नी श्री राजाराम के खिलाफ शिकायत कर जिलाधिकारी गाजीपुर से तत्काल कार्रवाई की मांग की है।ताकि गरीब मजदूरों के साथ न्याय हो सके।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!