‘ कोरोना ‘ ने तोड़ दी त्रिपल” के ” की कमर किसान,कारोबारी व कर्मचारी काट रहे संकट का समय

मनोहर कुमार (संवाददाता)
– लॉक डाउन व सामाजिक दूरी से बढ़ गई समस्या

डीडीयू नगर। देश में इस समय कोरोना संकट से निपटने के लिए दूसरे चरण का लॉक डाउन चल रहा है।दो चरणों का लॉक डाउन 40 दिन का है।लोग कोरोना वायरस को हराने के लिए घरों में कैद है। समाजिक दूरी बनाए रखना अनिवार्य है। इस बीच कोरोना वायरस ने त्रिपल “के” की कमर तोड़ कर रख दिया है। त्रिपल के किसान,कारोबारी व कर्मचारी बेहाल है।संकट के इस दौर में लोग मुश्किल में हैं। रोजी रोटी का संकट खड़ा है।
विश्व विख्यात रूप धारण कर चुके कोरोना वायरस के महामारी संकट से पूरा विश्व जूझ रहा है। हिन्दुस्तान में कोरोना संक्रमित की संख्या शुक्रवार को तेरह हजार के पार् चला गया। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए सरकार ने देशबन्दी कर दी है।पहले चरण में लॉक डाउन किया गया था ।इसकी अवधि 24 मार्च से 14 अप्रैल तक रहा।इसके बाद इसे दूसरे चरण में बढ़ा कर 15 अप्रैल से तीन मई तक कर दिया गया है। लोग अब 40 दिनों तक अपने घरों में कैद रहेगें।जिसमें आधे से अधिक समय पार हो गया है।संक्रमितों की संख्या बढ़ने से सरकार काफी सतर्कता बढ़ा दी है।कई जिलों को में हॉट स्पॉट बनाये गए हैं।सबसे राहत की बात है कि धान के कटोरे के रूप में विख्यात चन्दौली जनपद में एक भी कोरोना से संक्रमित सामने नहीं आया है। 40 दिनों की देशबन्दी से लोगों के समक्ष संकट भी खड़ा हो रहा है। कोरोना ने त्रिपल ” के ” की कमर तोड़ कर रख दिया है।इसमें किसान,कारोबारी व कर्मचारी शामिल हैं।किसान इसलिए परेशान हैं कि खेतों में खड़ी गेंहू की फसल काटने के लिए मजदूर नहीं मिल रहे है।इसके साथ ही उन्हें सामाजिक दूरी के साथ मास्क व सेनेटाइजर का इस्तेमाल करना है।अन्नदाताओं के पास पैसे की किल्लत है।बाजार खुला नहीं हैं।गेहूं की वाजिब कीमत मिलेगी नहीं,क्रय केंद्रों पर समय से पहुंच नहीं पा रहा है।उधर 40 दिनों तक कारोबारी अपने प्रतिष्ठान बंद कर घरों में कैद हैं ।उन्हें कारोबार की चिंता सताए जा रही है।दुकानों में समानों के खराब होने,चूहों के कुतरने की शंका खाये जा रही है।वहीं पूंजी भी डंप पड़ गया है।जबकि कर्मचारी खास कर निजी क्षेत्रों व प्रतिष्ठानों में काम करने वाले अपनी नौकरी जाने की चिंता में परेशान हैं ।समय से उन्हें सेलरी भी नहीं मिलेगी या उनमें कटौती की जा सकती है या फिर काम नहीं तो वेतन नहीं का समस्या सामने आ सकती है।जो भी हो लॉक डाउन व समाजिक दूरी ने ” त्रिपल “के की समस्या बढ़ा दिया है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!