जिलाधिकारी जौनपुर के एक पत्र ने सोनभद्र प्रशासनिक अमले में मचाया हड़कम्प

आनंद कुमार चौबे/विनोद धर (संवाददाता)

सोनभद्र । जौनपुर के जिलाधिकारी के एक पत्र ने सोनभद्र के प्रशासनिक अमले में हड़कम्प मचा दिया है । जौनपुर जिलाधिकारी ने अपने पत्रांक संख्या 44/एसटी/कोविड19/2019-20 दिनांक 15 अप्रैल 2020 के माध्यम से बताया कि जौनपुर आईटीआई (औद्योगिक केंद्र) सूक्खीपुर जौनपुर में अस्थाई शेल्टर में पिछले 3 अप्रैल से शाने आलम को क्वॉरेंटाइन किया गया था । इसके अतिरिक्त सोनभद्र जनपद के 8 व्यक्ति जिनको कोई लक्षण नहीं था उन्हें 14 दिन की अवधि पूरी कर लेने की वजह से शासन के क्रम में बुधवार 15 अप्रैल को घर के लिए रवाना कर दिया गया था।

जिलाधिकारी जौनपुर ने सोनभद्र के जिलाधिकारी को पत्र के माध्यम से अवगत कराया है कि शेल्टर से सोनभद्र के आठ लोगों को छोड़े जाने के बाद शाने आलम की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई। जिसमें शाने आलम की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव पाया गया।

जिलाधिकारी जौनपुर ने सचेत करते हुए कहा कि यह लोग जो आपके जिले भेजे गए हैं यह उसी अबू मोहम्मद आईटीआई (औद्योगिक केंद्र) सूक्खीपुर जौनपुर के शेल्टर होम में रखे गए व्यक्तियों के साथ बस में यात्रा किए हैं । अतः भले ही यह लोग एसोम्टोमेटिक हैं, परंतु शाने आलम का पॉजिटिव केस आने के कारण इनका कोरोना टेस्ट कराना औचित्यपूर्ण प्रतीत होता है ।

पत्र मिलने के बाद सोनभद्र प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है। कई थानों की पुलिस सहित एसडीएम और अन्य अधिकारी कोन क्षेत्र पहुंचकर उन 8 लोगों की तलाश कर रहे हैं जो जौनपुर से लौटे हैं ।
मगर सवाल यह उठता है कि जिन 8 लोगों को कल जौनपुर प्रशासन ने घर जाने के लिए छोड़ा है वे घर पहुंचने से पहले किसके किसके संपर्क में रहे ।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!