एक साल पहले गेहूं की फसल जलने से मुआवजे के आस में आज तक किसान

संदीप भेलारी (संवाददाता)

सासाराम रोहतास । जिला के दिनारा प्रखंड के नटवार कला आज से ठीक एक साल पहले आज ही के दिन करीब 30-35किसानों का गेंहू लगा फसल जल कर खाक हो गया, घटना के समय अंचलाधिकारी,हल्का कर्मचारी, अग्निशामक, नटवार, बिक्रमगंज, सूरजपुरा, भानस, दिनारा थानाध्यक्ष सहित पुलिस निरीक्षक किसानों का विरोध तपती धूप में झेल रहे। किसान मुआवजे को लेकर काफी हंगामा कर रहे थे। विदित हो कि 14अप्रैल 2019 को नटवार खुर्द जाने वाले रास्ते मे बिजली के लूज व जर्जर तार के आपस मे टकराव के कारण उत्पन जिंगरी से गेंहू का फसल जल गया फिर क्या था दोपहर का मंजर किसी को हिमत नहीं थी कि गेहूं के फसल में धधकती आग को बुझा दे । सूचना पाकर अग्निशामक की गाड़ी काफी प्रयास के बाद ग्रामीणों के सहयोग से आग पर काबू पाया। लेकिन तब तक किसानों का 50-60बीघे में लगे गेंहू का फसल आग में जल कर राख हो गया। घटना के बाद अंचलाधिकारी, हल्का कर्मचारी एवं पुलिस प्रशासन घटना के कारणों का जांच कर सभी पीड़ित किसानों को सरकारी प्रावधान के अनुसार मुआवजा देने की बात कही गयी! इसी बीच कुछ पीड़ित किसान अखबार में छपे खबर को प्रमुखता देकर बिजली विभाग से मुआवजा का मांग करने लगे, बिजली विभाग ने हो हंगामा के कारण उस समय अपने स्तर से मुआवजे देने की बात कह कर आज तक टाल-मटोल करते आ रहे हैं। लेकिन अब पीड़ित किसान बिजली विभाग पर प्राथमिकी दर्ज कराने के मूड़ में हैं। चुकी पीड़ित किसानों का कहना हैं कि पिछले साल गेंहू का फसल जल गया और धान का फसल भी बर्षा के कारण नष्ट हो गया अब वर्तमान में देश मे कोरोना जैसे महामारी में पुनः गेंहू का फसल खेत मे ही कटाई नहीं होने के कारण बर्बाद हो रहा हैं। स्थनीय सुरेन्द्र कुमार ने बताया कि पीड़ित किसान राधेमोहन प्रसाद,कड़ेलाल सिंह, हरिनाथ सिंह, रामभवन सिंह, अयोध्या यादव सहित दर्जनों किसानों का गेंहू का तैयार फसल बिजली के स्पर्स से जल गया, परन्तु इन पीड़ित किसानों को आज तक कही से मुआवजा नहीं मिला।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!