सेनेटाइजर, भोजन व मास्क सबसे बड़ा टास्क

मनोहर गुप्ता (संवाददाता)
* लॉक डाउन के दौरान लोगों का पेट भरना बड़ी चुनौती।
* गरीबों तक सेनेटाइजर व मास्क की जरूरत
* अनिवार्य हो गया मास्क लगाना

डीडीयू नगर। कातिल हो चुके कोरोना वायरस के संक्रमण से अब तक देश मे सात हजार से अधिकारी लोग बेजार हैं।लगभग सौ से अधिक लोग इस रोग से काल कलवित हो गए। कोरोना के संक्रमण से बचाव के लिए सोशल दूरी रखने का उपाय है।24 मार्च से देश में लॉक डाउन है। लॉक डाउन दो हफ्ते और बढ़ाने के संकेत मिल रहे हैं।अब लोगों के समक्ष सेनेटाइजर,भोजन व मास्क सबसे बड़ा टास्क है।
देश में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है।अब तक सात हजार से ज्यादा लोग इससे बेजार हैं। सौ से अधिक लोग काल के गाल में समा चुके हैं।धान के कटोरे के रूप में विख्यात चन्दौली जनपद के लिए सबसे राहत की बात है कि अब तक एक भी कोरोना मरीज सामने नहीं आए।जितने भी संदिघ्ध मामले आये उनकी रिपोर्ट निगेटिव आया है।जनपद में इस समय गेहूं की फसल पक कर तैयार है।लॉक डाउन व सोशल डिस्टेंसिंग के वजह से फ़सल की कटाई नहीं हो पा रही है।किसान चाह कर भी फसल काट नहीं पा रहे हैं। मजदूरों के न आने से समस्या विकट हो रही है। फसल कट जाती है तो उसे मंडियों में बेचना है। इन सबके बीच जनपद में किसान काफी परेशान हैं।उन्हें इस दौरान सेनेटाइजर ,भोजन व मास्क की जरूरत होगी। लॉक डाउन का दो सप्ताह से अधिक बीत गए हैं। इस समय लोगों की आजीविका प्रभावित हुआ है।लोगों के रोजगार बन्द हैं ।रोज कमाने खाने वालों के समक्ष रोजी रोटी का सवाल है।कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले के चलते लॉक डाउन को दो सप्ताह और बढ़ाने के संकेत मिल रहे है।इससे लोगों की आजीविका प्रभवित हो रही है।अब गरीबों, बेरोजगारों ,मजदूरों सभी के समक्ष रोटी का संकट खड़ा हो रहा है। सामाजिक दूरी को बढ़ाने के लिए जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!