महंगी सब्जी से स्वाद हो रहा कड़वा

मनोहर गुप्ता (संवाददाता)
* सरकारी रेट से नही मिल रहा कोई सब्जी
* लॉक डाउन में निवाला के लिए परेशान हैं लोग

डीडीयू नगर। कातिल कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए लगाए गए लॉक डाउन में अब लोग महंगा निवाला खाने को मजबूर हैं।सरकारी दर तय होने के बाद भी सब्जी के दाम कम नहीं हो रहे है। इस समय सब्जी व्यवसाय में काफी लोग जुट गए हैं।गांव की पगडंडियों से लेकर शहर की गलियों तक सब्जी बेचने वाले लोगों को लूटने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे हैं।इस समय बाजार में मांसाहारी चीजो पर रोक के बाद लोग सब्जी को हो आहार बना रहे हैं।काम न मिलने से लोग ऐसे ही बेगार बैठे हैं।
कोरोना वायरस से बचने के लिए केंद्र सरकार ने देश में लॉक डाउन घोषित किया है ।लॉक डाउन का एक पखवारा गुजर गया है।लोग घरों में कैद हैं। कुछ आवश्यक व जरूरी समानों की बिक्री के लिए सरकार ने छूट दी है। जिसमें सब्जी भी शामिल है।रोजमर्रा की जरूरतों में सब्जी एक अहम सामग्री है।प्रशासन की ओर से सब्जी का दर भी तय किया गया है।बावजूद इसके इससे दोगुने दाम पर सब्जी लोगों को मिल रही है। अन्य छोटे मोटे व्यवसाय कर अपना पेट पालने वाले का लॉक डाउन के बाद व्यवसाय बन्द है।इस कारण लोग अब सब्जी को बेच अपना भरण पोषण कर रहे है।नेनुआ 35 से 40 रुपए, परवल 60 से 80,भिड़ी 40 से 50,करैला 60 से 70 ,टमाटर 20 से 25 ,मिर्ची 40 से 50,लौकी 30 से 40 ,प्याज 30 से 36व आलू 25 रुपए किलो बिक रहा है। लॉक डाउन के चलते लोग घरों में बैठें हैं। संचित पूंजी का इस्तेमाल खाने पीने की सामग्री में खर्च हो रही है।इधर निवाला भी महंगा होता जा रहा है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!