प्रधानमंत्री मोदी आज राजनीतिक दलों के नेताओं से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए करेंगे बात

नई दिल्ली: कोरोनावायरस के कारण देशव्यापी लॉकडाउन के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आठ अप्रैल को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये लोकसभा एवं राज्यसभा में विभिन्न दलों के नेताओं के साथ संवाद करेंगे।

संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि प्रधानमंत्री आठ अप्रैल को 11 बजे वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये संसद के दोनों सदनों में उन दलों के नेताओं के साथ संवाद करेंगे जिनके पांच से अधिक सांसद हैं।

समझा जाता है कि इस बैठक में कोरोनावायरस से जुड़े विभिन्न मुद्दों और देशव्यापी लॉकाडाउन पर चर्चा हो सकती है।

पार्टी के वरिष्ठ नेता सुदीप बंदोपाध्याय प्रधानमंत्री मोदी के साथ इस संवाद में तृणमूल कांग्रेस का प्रतिनिधित्व करेंगे। बंदोपाध्याय लोकसभा में तृणमूल के नेता हैं और वह कोलकाता से प्रधानमंत्री से संवाद करेंगे। समाचार एजेंसी भाषा के मुताबिक, तृणमूल सूत्रों ने बताया कि पार्टी कई दिनों तक संसद में कोरोना वायरस के फैलने के विषय पर चर्चा की मांग करती रही लेकिन ऐसा कभी नहीं किया गया, इसलिए पार्टी ने शुरू में इस संवाद में शामिल नहीं होने का निर्णय लिया था।

पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ”सरकार ने हमसे संपर्क किया और यह वास्तविक था। कोरोना वायरस के फैलने के कारण उत्पन्न स्थिति की गंभीरता को ध्यान में रखकर इस पर विचार किया गया और हमने तय किया कि पार्टी का एक प्रतिनिधि अवश्य इस संवाद में शामिल हो।

कोरोना पर पीएम ने सोनिया, मनमोहन समेत कई नेताओं से की बात

कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में पीएम नरेंद्र मोदी ‘सबका साथ और सबका विश्वास’ जीतने कोशिश कर रहे हैं और इसलिए वह सर्वदलीय बैठक से पहले ही सभी राजनीतिक दलों के साथ चर्चा में जुट गए थे। पीएम नरेंद्र मोदी ने रविवार को दो पूर्व राष्ट्रपतियों और दो पूर्व प्रधानमंत्रियों के अलावा विपक्ष के कई बड़े नेताओं से कोरोना वायरस संकट पर चर्चा की।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के खिलाफ चल रही जंग के बीच पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, प्रतिभा पाटिल और पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, एचडी देवगौड़ा से फोन पर बात की। इसके अलावा उन्होंने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी बात की।

पीएम ने समाजवादी पार्टी के नेता मुलायम सिंह यादव, अखिलेश यादव, टीएमसी की मुखिया ममता बनर्जी, बीजद चीफ नवीन पटनायक, अकाली दल के प्रकाश सिंह बादल के अलावा दक्षिण भारत के बड़े नेताओं के चंद्रशेखर राव, एमके स्टालिन से भी चर्चा की।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!