लॉकडाउन: अगर 15 अप्रैल से ट्रेनें शुरू होती हैं तो यात्रियों को सफर से पहले करना पड़ेगा यह काम… पढ़े पूरी खबर

आगामी 15 अप्रैल से ट्रेन परिचालन की स्थिति में रेलवे बोर्ड यात्रियों के लिए कोरोना वायरस संबंधी प्रोटोकॉल बनाने की दिशा में योजना बना रहा है। इसके तहत यात्रियों को थर्मल स्क्रीनिंग से लेकर आरोग्य सेतु मोबाइल एप का प्रयोग करने जैसे उपाय लागू करने पर विचार किया जा रहा है।

रेल मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि 21 दिन के लॉकडाउन समाप्त होने के बाद कोरोना वायरस पर गठित मंत्रियों का समूह अवधि बढ़ाने अथवा समाप्त करने पर अंतिम फैसला लेगा। उन्होंने बताया कि यदि 14 तारीख की 12 बजे रात से लॉकडाउन समाप्त होने की घोषणा की जाती है तो रेलवे अचानक 13,524 यात्री ट्रेनें चलाने की स्थिति में नहीं होगा।

इसके लिए 60 हजार से अधिक सहायक ड्राइवर, ड्राइवर, 25 हजार से अधिक गार्ड, 30 हजार से अधिक टीटीई और टीसी, आठ हजार रेलवे स्टेशन पर तैनात स्टेशन प्रबंधक और अन्य ट्रेन परिचालन से जुड़े अधिकारियों-कर्मचारियों को पूर्व में ड्यूटी ज्वाइन करने के निर्देश जारी करने होंगे।

ड्यूटी ज्वाइन करने के निर्देश: इस प्रकार विभिन्न जोनल रेलवे से चलने वाली राजधानी, शताब्दी, जनशताब्दी, गरीब रथ, संपर्क क्रांति सहित मेल-एक्सप्रेस व सुपरफास्ट ट्रेन को वहां होना जरूरी होगा। यही कारण है कि रनिंग स्टाफ को ट्रेन के टाइम टेबल व ड्यूटी ज्वाइन करने के निर्देश शुक्रवार को जारी कर दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि ट्रेन चलने की स्थिति में कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए प्रोटोकॉल लागू करने पर चर्चा की जा रही है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!