बदल रही शहर की आबोहवा पापुलेशन के घर मे रहने से पॉल्युशन हुआ कम

अबुलकैश डब्बल ब्यूरो
– घरों से गन्दगी भी निकल रहा मनोहर गुप्ता

चंदौली । मुग़लसराय वैश्विक महामारी का रूप ले चुके कोरोना वायरस ने काफी कुछ बदल दिया है।शहरों की आबोहवा में परिवर्तन आ रहा है।कोरोना के संक्रमण को फैलने से बचाने के लिए सामाजिक दूरी का उपचार निकाला गया।इसके साथ ही लॉक डाउन किया गया है।शहर में लोग घरों में कैद हैं। पापुलेशन के शहर में न निकलने से पॉल्युशन में भारी कमी आई है।सड़कें जहां साफ है वहीं गन्दगी का अंबार भी कम दिख रहा है। नगर से प्रतिदिन 35 टन कूड़ा निकलता है।जिसमे भारी गिरावट आई है। घरों से गन्दगी भी कम निकल रहा है।लोग साफ सफाई पर विशेष ध्यान दे रहे हैं।
कोरोना वायरस ने भारत ही नहीं पूरे विश्व के सिस्टम में बदलाव कर दिया है।वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार नई नई योजनाएं तैयार कर रही हैं।भारत जैसे विशाल देश मे जहां विभिन्न वर्ग के लोग रहते हैं।इस देश मे लॉक डाउन घोषित किया गया है। परिवहन साधन बंद हैं।ट्रेन से लेकर सवारी वाहन तक चक्के जाम हैं। आमतौर पर धूल के गुबार से जाने जाने वाला चंदासी कोल मंडी में गन्दगी कम है।वाहन के दौड़ भाग और कोल की व्यवसाय बन्द है। वाहनों का आवागमन बन्द है।इस कारण धूल के गुबार नहीं उड़ रहे हैं।सब्जी मंडी में फल व सब्जी का व्यवसाय ठप पड़ा है। अक्सर गन्दगी व जाम का पर्याय सब्जी मंडी काफी साफ सुथरी है। गन्दगी का वजूद खत्म है।इसी तरह गल्लामंडी, एलबीएस कटरा अन्य स्थानों पर गन्दगी न के बराबर है।
जबकि आम दिनों में नगर से लगभग 35 टन कूड़ा प्रतिदिन निकलता था। वही देश के ए प्लस ग्रेड स्टेशनों में शुमार पीडीडीयू जंक्शन पर साफ सफाई की व्यवस्था दुरुस्त है। कोरोना वायरस के चलते गन्दगी पर जहां लगाम लगी है।वहीं घरों से भी कूड़ा कम निकल रहा है। सुबह में लीगों की आवाजाही ज्यादा है। 10 बजते ही लोग घरों में दुबक जा रहे हैं। देखा जाए तो वायरस के संक्रमण न बढे इसके लिए लोग काफी सतर्क हैं। पापुलेशन के बाहर न आने से पॉल्युशन पर हद तक कंट्रोल है।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!