14 अप्रैल तक पड़ने वाले त्योहारों पर नहीं होगा कोई धार्मिक व सामूहिक कार्यक्रम- संजय वर्मा

रमेश यादव (संवाददाता)

सबे बारात पर मिलाद व कब्रिस्तान में फातिहा पढ़ने पर भी पाबंदी

महावीर व अंबेडकर जयंती पर भी नहीं होगा कोई आयोजन

दुद्धी । 14 अप्रैल के पूर्व पड़ने वाले धार्मिक त्योहारों में कार्यक्रमों को पूरी तरीके से निरस्त कर दिया जाए। शासन प्रशासन द्वारा किसी भी आयोजन की अनुमति नहीं दी जाएगी। उक्त बातें पुलिस उपाधीक्षक दुद्धी संजय वर्मा ने शनिवार को स्थानीय कोतवाली परिसर में आयोजित पीस कमेटी की बैठक में लोगों को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि 6 अप्रैल को महावीर जयंती, 9 तारीख को पढ़ने वाले शबे बरात व 14 तारीख को पड़ने वाले अंबेडकर जयंती पर कोई भी कार्यक्रम करने की अनुमति नहीं होगी। उन्होंने बताया कि करोना के तीसरे स्टेज में संक्रमित सर्वाधिक मरीज मिले हैं। इन परिस्थितियों में शासन द्वारा स्पष्ट निर्देश आया है कि कहीं भी कोई कार्यक्रम आयोजित नहीं किया जाएगा। शबे बरात में सभी लोग अपने घरों में सब्बेदारी करेंगे। कब्रिस्तान जाने जाने की मस्जिद में कोई मिलाद शरीफ की या किसी के घर पर भी कोई सामूहिक मिलाद की अनुमति नहीं होगी। अंबेडकर जयंती पर कोई जुलूस नहीं निकाला जाएगा। वहीं महावीर जयंती पर कोई जुलूस नहीं निकाला जाएगा। इस अवसर पर तहसीलदार दुद्धी बृजेश कुमार वर्मा ने कॅरोना जैसी बीमारी के लक्षण और इससे बचने के विस्तृत में उपाय बताए। प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि अब तक लाक डाउन का उल्लंघन करने वाले कस्बे के करीब 80 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया गया है। किसी भी व्यक्ति के चबूतरे पर या दरवाजे के सामने भीड़ का जमघट पाया जाता है तो उसके खिलाफ भी एफ आई आर दर्ज किया जाएगा। शनिवार से दोषी लोगों के दरवाजों पर पुलिस द्वारा एफ आई आर की नोटिस चस्पा की जा रही है।

इस अवसर पर जामा मस्जिद के सदर मोहम्मद शमीम अंसारी, रामलीला कमेटी के अध्यक्ष
रविंद्र जायसवाल, जय बजरंग अखाड़ा समिति के अध्यक्ष कमलेश सिंह कमल, दिनेश अग्रहरी, मन्नू खान, तैय्यब अली, जियारत अली, क्राइम इंस्पेक्टर सत्य प्रकाश यादव सहित दरोगा वंश नारायण, शमशाद अहमद सहित अन्य लोग उपस्थित थे।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!